Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

पश्चिम बंगाल में ‘जय श्री राम’ को लेकर राजनीति गरमाई, BJP सीएम ममता बनर्जी को भेजेगी 10 लाख पोस्टकार्ड

पश्चिम बंगाल में ‘जय श्री राम’को लेकर सियासत गरमा गई है. लोकसभा चुनावों में हार का सामना करने वाली तृणमूल कांग्रेस के जख्मों पर नमक छिड़कते हुए भारतीय जनता पार्टी पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को ‘जय श्री राम’ लिखा दस लाख पोस्टकार्ड भेजने का निर्णय किया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पश्चिम बंगाल में ‘जय श्री राम’ को लेकर राजनीति गरमाई, BJP सीएम ममता बनर्जी को भेजेगी 10 लाख पोस्टकार्ड

बीजेपी ममता बनर्जी को 10 लाख पोस्टकार्ड भेजेगी.

नई दिल्ली :

पश्चिम बंगाल में ‘जय श्री राम' को लेकर सियासत गरमा गई है. लोकसभा चुनावों में हार का सामना करने वाली तृणमूल कांग्रेस के जख्मों पर नमक छिड़कते हुए भारतीय जनता पार्टी पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को ‘जय श्री राम' लिखा दस लाख पोस्टकार्ड भेजने का निर्णय किया है. पश्चिम बंगाल से भाजपा के नवनिर्वाचित सांसद अर्जुन सिंह ने कहा, ‘हमने मुख्यमंत्री के आवास पर 10 लाख पोस्टकार्ड भेजने का निर्णय किया है जिन पर ‘जय श्रीराम' लिखा होगा'.     तृणमूल कांग्रेस के विधायक रह चुके सिंह आम चुनाव से पहले भाजपा में शामिल हुए थे.  उन्होंने यह बात भाजपा कार्यकर्ताओं के समूह पर पुलिस द्वारा लाठीचार्ज किये जाने के बाद कही जो उस स्थान के बाहर प्रदर्शन के दौरान ‘जय श्रीराम' के नारे लगा रहे थे जहां तृणमूल कांग्रेस के नेता बैठक कर रहे थे.  

कुमार विश्वास ने ममता बनर्जी पर 'तुलसीदास के दोहे' से कसा तंज, कहा- 'हे दीदी, राम नाम...'


तृणमूल कांग्रेस सूत्रों ने कहा कि तृणमूल कांग्रेस के नेता उत्तर 24 परगना जिले के कांचरापाडा में एकत्रित हुए थे ताकि पार्टी के उन कार्यालयों को फिर से वापस लेने की रणनीति बनायी जा सके जिन्हें कथित रूप से भाजपा कार्यकर्ताओं ने ले लिया है. कांचरापाडा सिंह के बैरकपुर संसदीय क्षेत्र के तहत आता है. तृणमूल कांग्रेस नेता एवं राज्य के मंत्री ज्योतिप्रिय मलिक ने दावा किया कि सिंह और भाजपा नेता मुकुल रॉय के पुत्र शुभ्रांशु रॉय ने क्षेत्र में कठिनाईं पैदा करने का षडयंत्र रचा है. उन्होंने आरोप लगाया कि शुभ्रांशु गत मंगलवार को तृणमूल छोड़कर भाजपा में शामिल हो गए थे. पुलिस सूत्रों ने कहा कि बैठक स्थल के बाहर एकत्रित लोगों ने नारेबाजी की और आरोप लगाया कि मलिक तथा मदन मित्रा, तपस रॉय और सुजीत बोस जैसे तृणमूल कांग्रेस के नेताओं की मौजूदगी क्षेत्र में शांति के लिए हानिकारक है. सूत्रों ने बताया कि पुलिस और त्वरित कार्रवाई बल (आरएएफ) कर्मियों ने पहले प्रदर्शनकारियों को समझाने का प्रयास किया लेकिन बाद में स्थिति हाथ से फिसलते देखकर लाठीचार्ज किया. मलिक ने कहा, ‘यह अभूतपूर्व है. हमने इस तरह की संस्कृति बंगाल में नहीं देखी है. यह भाजपा की संस्कृति है'. सिंह ने आरोपों से इनकार किया.  

'जय श्री राम' का नारा लगाने पर भड़कीं ममता बनर्जी, मिथुन चक्रवर्ती का डायलॉग बोलकर दिया जवाब- देखें Video

टिप्पणियां

उन्होंने कहा, ‘तृणमूल कांग्रेस के नेता व्यर्थ की बातें कर रहे हैं. लोगों ने तृणमूल कांग्रेस को खारिज किया है और यह उनकी प्रतिक्रिया है. आपको बता दें कि हाल में सम्पन्न चुनाव में भाजपा कुल 42 सीटों में से 18 सीटें जीतकर बंगाल में एक राजनीतिक ताकत के तौर पर उभरी है. उसके बाद से तृणमूल कांग्रेस के नेता भाजपा में शामिल हो रहे हैं. यह पूछे जाने पर कि क्या तृणमूल कांग्रेस प्रदर्शन को लेकर पुलिस में कोई शिकायत दर्ज कराएगी, मलिक ने कहा कि उनकी पार्टी इससे राजनीतिक रूप से निपटेगी. शुक्रवार को पश्चिम बंगाल भाजपा ने बनर्जी पर लोगों के उस समूह पर भड़कने के लिए निशाना साधा जो उनकी कार के आगे ‘जय श्रीराम' बोल रहे थे. भाजपा ने सवाल किया कि क्या राज्य में जय श्रीराम का नारा लगाना अपराध है. दरअसल, बृहस्पतिवार को बनर्जी तब नाराज हो गई थीं जब कुछ व्यक्तियों ने जय श्रीराम के नारे लगाये. इन लोगों ने जय श्रीराम का नारा तब लगाया जब उनका काफिला बैरकपुर लोकसभा क्षेत्र के भाटपारा क्षेत्र से गुजर रहा था. इसके बाद ममता बनर्जी नाराज हो गई थीं. (इनपुट-भाषा से भी) 

Video: ममता बनर्जी के सामने जय श्री राम के नारे, हिरासत में लिए गए 10 युवा



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... सड़क पर घूमता दिखा सिर कटा शख्स, देखकर लोगों ने दिया ऐसा रिएक्शन, देखें Shocking Video

Advertisement