TOP 5 NEWS: कर्नाटक विधानसभा में बीजेपी ने जीता विश्वास मत, आजम खान ने अभद्रता के लिए मांगी माफी

बिहार के मधुबनी में शराब माफियाओं के खिलाफ खबर लिखने के चलते एक पत्रकार को अपराधियों ने गोली मार दी.

TOP 5 NEWS: कर्नाटक विधानसभा में बीजेपी ने जीता विश्वास मत, आजम खान ने अभद्रता के लिए मांगी माफी

नई दिल्ली:

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने ध्वनि मत के जरिए विश्वास प्रस्ताव जीत कर विधानसभा में सोमवार को अपना बहुमत साबित किया. सरकार के पक्ष में 105 वोट पड़े हैं जबकि कांग्रेस के पक्ष में 99 वोट पड़े. दरअसल 17 विधायकों को स्पीकर की ओर से अयोग्य घोषित किए जाने के बाद से बीजेपी के लिए राह आसान हो गई थी क्योंकि सदन में बहुमत का आंकड़ा 105 पहुंच गया था. उधर उत्तर प्रदेश में रविवार को सड़क दुर्घटना में घायल हुई उन्नाव गैंगरेप पीड़िता की मां ने हादसे के लिए आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को जिम्मेदार ठहराया है. उन्होंने कहा कि वह और उसे आदमी उसे पिछले कई दिनों से धमकी दे रहे थे. बिहार के मधुबनी में दैनिक जागरण अख़बार से जुड़े एक पत्रकार को अपराधियों ने गोली मार दी. पत्रकार प्रदीप ने अपने अख़बार में कुछ दिनों पहले उच्च स्थानीय शराब माफ़ियाओं के ख़िलाफ ख़बरें लिखी थीं और यही वजह है कि ऐसा किया गया. फिलहाल प्रदीप का अस्पताल में इलाज चल रहा है और वे खतरे से बाहर हैं. वहीं बीजेपी सांसद  रमा देवी से अभद्र बात कहने पर सपा सांसद आजम खान ने लोकसभा में माफी मांग ली है. आजम खान ने सोमवार को लोकसभा में अपने बयान को लेकर माफी मांगी है. इस पर राम देवी ने कहा कि आजम खान की आदत बिगड़ी हुई है. साथ ही उन्होंने अखिलेश यादव से सवाल किया कि आप आजम खान का समर्थन क्यों कर रहे हैं. दूसरी ओर इजराइल में मध्यावधि चुनाव से पहले बेंजामिन नेतन्याहू ने वोटरों को अपने वैश्विक रिश्तों से प्रभावित करने के लिए जगह-जगह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और रूसी राष्ट्रपति के साथ तस्वीर वाले पोस्टर लगवाए हैं. 

येदियुरप्पा ने कर्नाटक विधानसभा में पेश किया विश्वास मत, बहुमत हासिल करने में हुए सफल
कर्नाटक में बीएस येदियुरप्पा ने आखिरकार विश्वासमत हासिल कर लिया है. सरकार के पक्ष में 105 वोट पड़े हैं जबकि कांग्रेस के पक्ष में 99 वोट पड़े. दरअसल 16 विधायकों को स्पीकर की ओर से अयोग्य घोषित किए जाने के बाद से बीजेपी के लिए राह आसान हो गई थी क्योंकि सदन में बहुमत का आंकड़ा 105 पहुंच गया था. संख्या बल भाजपा सरकार के पक्ष में होने की वजह से कांग्रेस- जद (एस) ने येदियुरप्पा द्वारा पेश किए गए एक पंक्ति के विश्वास प्रस्ताव पर मत विभाजन का दबाव नहीं बनाया. इस प्रस्ताव में येदियुरप्पा ने कहा था कि सदन उनके नेतृत्व में बनी तीन दिन पुरानी सरकार में भरोसा जताता है. चूंकि विपक्ष ने मत विभाजन के लिए दबाव नहीं बनाया, अध्यक्ष के आर रमेश ने घोषणा की कि प्रस्ताव ध्वनि मत से पारित किया जाता है.  चर्चा के दौरान बीएस येदियुरप्पा ने कहा, ' मैं बदले की राजनीति में शामिल नही हैं. मैं भूलने और माफ करो के सिद्धांत में विश्वास करता हूं. 

iv588vog

गौरतलब है कि 16 विधायकों का सरकार से समर्थन वापस लेने के बाद राज्य में कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन की सरकार गिर गई थी. इसके बाद येदियुरप्पा की ओर से सरकार बनाने का दावा पेश किया गया. राज्यपाल की मंजूरी के बाद उन्होंने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली और उन्हें एक हफ्ते का समय दिया गया. वहीं दूसरी ओर से अयोग्य घोषित किए गए विधायकों ने कहा है कि वे स्पीकर के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपील करेंगे.


उन्नाव गैंगरेप पीड़िता की मां ने हादसे के लिए विधायक को ठहराया जिम्मेदार
उत्तर प्रदेश के रायबरेली स्थित गुरबख्श गंज इलाके में रविवार को उन्नाव गैंगरेप पीड़िता की गाड़ी और ट्रक की भिड़ंत होने पर उसकी चाची, मौसी और ड्राइवर की मौत हो गई. हालांकि गैंगरेप पीड़िता एक्सीडेंट में गंभीर रूप से घायल हो गई. पीड़िता की मां का कहना है कि ''हमें पता चला है कि विधायक के लोग जिम्मेदार है. ये लोग पिछले कई दिनों से धमकी दे रहे थे. जब भी हम कोर्ट जाते तो कहते थे कि वह भले जेल में है, लेकिन उनके आदमी बाहर हैं. वह जेल के अंदर मोबाइल फोन यूज किया करता था. हमें न्याय चाहिए''

mr1ocd5c

मालूम घायलों में उन्नाव के माखी क्षेत्र की रहने वाली वह लड़की भी शामिल है, जिसने भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर बलात्कार का आरोप लगाया था. रायबरेली के पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार सिंह ने बताया कि गुरबख्श गंज क्षेत्र में रविवार को दोपहर एक ट्रक और कार के बीच टक्कर हो गई, जिसमें महिला की मृत्यु हो गई व तीन अन्य गंभीर रूप से घायल हो गए. घटना के बाद ट्रक चालक भाग गया. इस मामले पर उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से कहा गया है कि पीड़ित पक्ष की शिकायत के आधार पर केस दर्ज किया जा रहा है. साथ ही बताया कि पीड़ित परिवार सीबीआई जांच की मांग कर रहा है.


बिहार: शराब माफियाओं के खिलाफ लिखने पर पत्रकार को मारी गोली
बिहार के मधुबनी में दैनिक जागरण अख़बार से जुड़े एक पत्रकार को अपराधियों ने गोली मार दी. हालांकि पत्रकार प्रदीप मंडल फ़िलहाल दरभंगा मेडिकल कॉलेज अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है और उनकी स्थिति ख़तरे से बाहर बतायी जा रही है. स्थानीय पुलिस का कहना है कि प्रदीप ने अपने अख़बार में कुछ दिनों पूर्व उच्च स्थानीय शराब माफ़ियाओं के ख़िलाफ़ ख़बरें लिखी थीं और यह घटना उसी के प्रतिशोध का परिणाम है.

vanmfioo

घटना के बाद प्रदीप ने पुलिसवालों को दो स्थानीय शराब माफ़िया अशोक मंडल और सुशील मंडल का नाम भी बताया जो उनके ऊपर इस हमले के लिए ज़िम्मेदार हैं. लेकिन इस बयान के बाद प्रदीप बेहोश हो गए थे और उन्हें तुरंत दरभंगा मेडिकल कॉलेज अस्पताल ले जाया गया. पुलिस का कहना है कि एक बार होश में आने के बाद उनसे विस्तृत रूप से बयान ले कर इस मामले के आरोपियों की गिरफ़्तारी की जाएगी.


आजम खान ने अभद्रता के मांगी माफी, लिए रमा देवी बोलीं- उनकी आदत बिगड़ी हुई है
भारतीय जनता पार्टी की सांसद रमा देवी से अभद्र बात कहने पर सपा सांसद आजम खान ने लोकसभा में माफी मांग ली है. आजम खान ने सोमवार को लोकसभा में अपने बया को लेकर माफी मांगी है. इस पर राम देवी ने कहा कि आजम खान की आदत बिगड़ी हुई है. साथ ही उन्होंने अखिलेश यादव से सवाल किया कि आप आजम खान का समर्थन क्यों कर रहे हैं. न्यूज एजेंसी एएनआई की मुताबिक सोमवार को सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और सांसद आजम खान ने लोकसभा स्पीकर ओम बिरला से मुलाकात की. इस दौरान बैठक में रमा देवी भी मौजूद थीं. 

आजम खान ने बिना शर्त के माफी मांगते हुए कहा, 'आसन के लिये मेरी कोई गलत भावना हो, ऐसा संभव ही नहीं है, फिर भी आसन को लगता है कि मुझसे कोई गलती हुई है तो मैं क्षमा मांगता हूं.'

qcm241bo

बता दें, 25 जुलाई को आजम खान ने रमा देवी को लेकर आपत्तिजनक बयान दिया था. इसके बाद भाजपा सांसद रमा देवी ने कहा था कि उनके खिलाफ की गई टिप्पणियों के लिए समाजवादी पार्टी के सांसद आजम खान को लोकसभा से पांच साल के लिए निलंबित किया जाना चाहिए, सिर्फ माफी से काम नहीं चलेगा. खान ने गुरुवार को जिस समय आपत्तिजनक टिप्पणी की थी, उस समय रमा देवी पीठासीन सभापति का दायित्व निभा रही थीं. 

Newsbeep

इजराइल में पीएम मोदी के साथ तस्वीर लगाकर नेतन्याहू कर रहे हैं चुनाव प्रचार
इजराइल में 17 सितंबर को होने वाले मध्यावधि चुनाव से पहले प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू की लिकुड पार्टी ने मतदाताओं को रिझाने के लिए भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप  तथा रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ अपनी तस्वीर वाले बैनर लगाए हैं. तेल अवीव में लिकुड पार्टी का मुख्यालय चुनाव प्रचार के बैनरों से अटा पड़ा है, जिसमें नेतन्याहू की विश्व के तीन नेताओं के साथ नजदीकियों को दिखाया गया है. नेतन्याहू का प्रचार विश्व के नेताओं के साथ उनके करीबी तालमेल को प्रदर्शित करने की कोशिश है. प्रचार अभियान में यह कोशिश की जा रही है नेतन्याहू को इजराइल की राजनीति में एक ऐसे नेता के तौर पर पेश किया जाए, जिसका कोई जोड़ न हो.

affk73g8

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इजराइली प्रधानमंत्री नौ सितंबर को एक दिन की यात्रा पर भारत जाएंगे, जहां वह मोदी से मुलाकात करेंगे. उनकी यह यात्रा मध्यावधि चुनाव से ठीक आठ दिन पहले होगी. कुछ राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है कि नई दिल्ली की उनकी यात्रा की तस्वीरों से यह दिखाने की कोशिश होगी कि उनकी विश्व भर में स्वीकार्यता है और इससे मतदान से कुछ दिन पहले उनके प्रचार अभियान को गति भी मिलेगी.