NDTV Khabar

रेप का आरोपी चिन्मयानंद को SIT ने किया गिरफ्तार, कोर्ट में पेश होने के बाद 14 दिन की जेल

Chinmayanand Case: बीजेपी नेता चिन्मयानंद को लॉ की छात्रा से बलात्कार के आरोप में SIT ने गिरफ्तार कर लिया है. चिन्मयानंद को मेडिकल परीक्षण के लिए अस्पताल ले जाया गया है. उसे सुबह करीब 8.50 मिनट पर गिरफ्तार किया गया. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. रेप के आरोप में चिन्मयानंद गिरफ्तार
  2. आज पेश किया जाएगा अदालत में
  3. पहले अस्पताल में हुई थी सेहत की जांच
उत्तर प्रदेश:

बीजेपी नेता चिन्मयानंद  को लॉ की छात्रा से बलात्कार के आरोप में यूपी SIT ने शुक्रवार को गिरफ्तार कर लिया. चिन्मयानंद (Chinmayanand) को मेडिकल परीक्षण के लिए अस्पताल ले जाया गया था. उसे सुबह करीब 8.50 मिनट पर गिरफ्तार किया. उसके बाद चिन्मयानंद को कोर्ट में पेश किया गया और फिर कोर्ट ने 14 दिन के लिए जेल भेजा है. उधर, चिन्मयानंद की ओर से दायर जबरन वसूली के मामले में पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया है. गौरतलब है कि चिन्मयानंद (Chinmayanand) लॉ छात्रा ने 12 पन्नों की शिकायत और SIT को दिए बयान में कई चौंका देने वाली बातें सामने आई हैं. पीड़िता का कहना है कि चिन्मयानंद ने ब्लैकमेल कर रेप किया है. पीड़िता का हॉस्टल के बाथरूम में नहाने का वीडियो बनाया गया और उस वीडियो को वॉयरल करने की धमकी देकर एक साल तक रेप करता रहा. साथ ही पीड़िता ने बताया कि चिन्मयानंद ने शारीरिक शोषण का वीडियो भी बनाया है. चिन्मयानंद पीड़िता से मसाज करने का भी दबाव बनाता था और कई बार उसके साथ बंदूक के दम पर भी रेप हुआ है. लड़की ने भी अपने बचाव के लिए चिन्मयानंद का वीडियो बनाया है. लड़की ने इसके लिए अपनी चश्मे में खुफिया कैमरा लगाया और चिन्मयानंद का वीडियो बनाया है.

रेप के आरोपी BJP नेता चिन्मयानंद की बिगड़ी तबीयत, घर पर बुलाई गई डॉक्टरों की टीम, हालत स्थिर


वहीं, रेप का आरोप लगाने वाली लड़की ने घर पास में होने के बावजूद हॉस्टल में रहने के पीछे कारणों का खुलासा किया है. उसने बताया कि वह एलएलएम में एडमीशन लेने के लिए गई था लेकिन चिन्मयानंद ने उसे नौकरी दे दी. नौकरी में काम का ज्यादा बोझ होने के कारण उसे हॉस्टल में रहना पड़ा जहां उसके साथ गलत हुआ. मंगलवार को पुलिस की एसआईटी ने लड़की के शाहजहांपुर में स्थित हॉस्टल के कमरे में रेप के सबूत तलाशे.

चिन्मयानंद मामला: SIT छात्रा के तीन दोस्तों और कॉलेज के कुछ कर्मचारियों से पूछताछ

टिप्पणियां

चिन्मयानंद मामले में विशेष जांच दल (एसआईटी) ने पीड़ित लड़की के हॉस्टल का कमरा देखा और साक्ष्य जुटाए. एसआईटी दोपहर में कॉलेज परिसर पहुंची. टीम ने करीब पांच घंटे तक छात्रा के कमरे का बारीकी से निरीक्षण किया. टीम के साथ फॉरेंसिक विशेषज्ञ भी मौजूद रहे.पीड़िता जिस कमरे में रहती थी, पुलिस ने उसे सील किया हुआ था. एसआईटी ने उसकी सील तोड़ कर मौका मुआयना किया.

चिन्मयानंद केस में पीड़ित लड़की ने दी आत्मदाह की धमकी​



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement