NDTV Khabar

असम हिंसा में शामिल उग्रवादी मारा गया

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
गुवाहाटी: असम के कोकराझार जिले में 23 दिसंबर के जनसंहार में कथित रूप से शामिल रहे एनडीएफबी (एस) के प्लाटून कमांडर को सुरक्षा बलों ने शनिवार को मार गिराया। इससे एक दिन पहले पुलिस ने सात बोडो आतंकवादियों को गिरफ्तार किया था, जिनमें से दो आतंकवादी इस जनसंहार में शामिल थे।

पुलिस महानिरीक्षक (बीटीएडी) एलआर बिश्नोई ने कहा कि मारे गए उग्रवादी की पहचान जबलांग उर्फ जगत बसुमतारी के रूप में हुई है। वह कोकराझार जिले में नेशनल डेमोक्रेटिक फ्रंट ऑफ बोडोलैंड (एडीएफबी) के वार्ता विरोधी धड़े के एक दस्ते का कमांडर था।

उन्होंने कहा, 'उग्रवादियों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान के तहत असम पुलिस और सशस्त्र सीमा बल के संयुक्त दल ने आज (शनिवार) जबलांग को सेरफांगुड़ी के पास दूरवर्ती इलाके में दोपहर लगभग दो बजे मार गिराया।'

बिश्नोई ने कहा, 'जबलांग पकड़ीगुड़ी में 23 दिसंबर को हुए जनसंहार में शामिल था। वह पिछले साल कोकराझार जिले में पांच हिंदी भाषी लोगों की हत्या करने का भी आरोपी था।'

पुलिस ने मारे गए आतंकवादी के पास से एक ऐके 56 राइफल, 22 राउंड कारतूस, दो गोले और कई दस्तावेज बरामद किए हैं।

एक अन्य पुलिस अधिकारी ने कहा कि जबलांग पिछले साल अगस्त में एक 16 वर्षीय लड़की प्रिया बसुमतारी की निर्मम हत्या में भी शामिल था।

गौरतलब है कि 23 दिसंबर को असम के तीन जिलों में पांच जगहों पर एनडीएफबी ने 70 लोगों को मौत के घाट उतार दिया था। इस हिसा के कारण बोडोलैंड प्रादेशिक क्षेत्र के जिले (बीटीएडी) कोकराझार, षोणितपुर और चिरांग और उदलगुड़ी जिले में दो लाख से भी अधिक लोगों को अपना घर छोड़ना पड़ा था।


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement