बाप ने बेटी का शव साइकिल से ढोया

खास बातें

  • मौत संदिग्ध होने पर कोतवाली थाने की पुलिस गांव गई और शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला मुख्यालय लाने को कहा।
अनूपपुर:

मध्य प्रदेश के अनूपपुर जिले में दिल को झकझोर देने वाला मामला सामने आया है, जब एक बाप को अपनी ही किशोर बेटी का शव कई किलोमीटर तक साइकिल पर ढोना पड़ा। इस मामले में लापरवाही बरतने के आरोप में सहायक उप निरीक्षक को निलंबित कर दिया गया है। जिला प्रशासन से मिली जानकारी के मुताबिक जिला मुख्यालय से लगभग 14 किलोमीटर दूर बसे दुधमनिया गांव में गोकुल गोंड की बेटी सोहागा (17 वर्ष) की उल्टी दस्त के चलते 7 जनवरी को मौत हो गई। मौत संदिग्ध होने पर कोतवाली थाने की पुलिस गांव गई और शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला मुख्यालय लाने को कहा। पुलिस के आदेश पर गोकुल ने बेटी का शव मुख्यालय ले जाने लिए अपनी ही साइकिल को सहारा बना लिया। लगभग 14 किलोमीटर का सफर तय कर गोकुल जब जिला मुख्यालय पहुंचा तब प्रशासनिक अमले को खबर हुई। जिला कलेक्टर कवींद्र कियावत ने मंगलवार को बताया कि गोकुल द्वारा अपनी बेटी का शव साइकिल पर ढोने का वाकया हुआ है। इसकी वजह गोकुल द्वारा प्रशासन को शव वाहन की सूचना न देना है। उनका कहना है जैसे ही उन्हें साइकिल से शव ढोने की सूचना मिली उन्होंने शव वाहन भेजा और पोस्टमार्टम के बाद शव को गांव तक वाहन से ही भेजा गया। उन्होंने बताया कि इस मामले में पुलिस की ओर से लापरवाही हुई है, लिहाजा पुलिस अधीक्षक ने कोतवाली थाने के सहायक उपनिरीक्षक एसएल तिवारी को निलंबित कर दिया है।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com