NDTV Khabar

पाकिस्तानी आतंकवादियों के खिलाफ बोलेंगे नहीं, करके दिखाएंगे : राजनाथ सिंह

राजनाथ सिंह ने कहा, "सर्जिकल स्ट्राइक के लिए 10-15 दिन तक तैयारी करनी पड़ी थी... कृपया ऐसा न समझें कि सरकार के स्तर पर कुछ भी नहीं किया जा रहा है... फिलहाल मैं इतना ही कह सकता हूं, और यह भी कि हम हमारे देशवासियों का सिर शर्म से झुकने नहीं देंगे..."

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पाकिस्तानी आतंकवादियों के खिलाफ बोलेंगे नहीं, करके दिखाएंगे : राजनाथ सिंह

राजनाथ सिंह ने कहा कि लोगों को ऐसा नहीं समझना चाहिए कि सरकार की ओर से कुछ भी नहीं किया जा रहा है...

नई दिल्ली: पाकिस्तान में बसे आतंकवादियों द्वारा भारतीय सुरक्षाबलों पर किए जा रहे हमलों तथा हाल ही में दो भारतीय सैनिकों के शवों के साथ की पाकिस्तान द्वारा की गई बर्बरता के मामले पर बोलते हुए केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि नरेंद्र मोदी सरकार 'देशवासियों का सिर शर्म से झुकने नहीं देगी', और 'सिर्फ बोलते न रहकर कार्रवाई करके दिखाएगी'.

कश्मीर के हालात को लेकर तैयार किए गए इंडिया टीवी के एक कार्यक्रम के दौरान केंद्रीय गृहमंत्री ने कहा, "बोल कर नहीं करेंगे, करके दिखाएंगे..."

इसी महीने की शुरुआत में पाकिस्तानी फौजियों द्वारा भारतीय सैनिकों के सिर काटे जाने के मामले में भारत द्वारा जवाब दिए जाने के संकेत देते हुए राजनाथ सिंह ने कहा कि लोगों को ऐसा नहीं समझना चाहिए कि सरकार की ओर से कुछ भी नहीं किया जा रहा है.

उन्होंने कहा कि सरकार जनता का दर्द समझती है. राजनाथ सिंह ने कहा, "सर्जिकल स्ट्राइक के लिए 10-15 दिन तक तैयारी करनी पड़ी थी... कृपया ऐसा न समझें कि सरकार के स्तर पर कुछ भी नहीं किया जा रहा है... फिलहाल मैं इतना ही कह सकता हूं, और यह भी कि हम हमारे देशवासियों का सिर शर्म से झुकने नहीं देंगे..."

उन्होंने कहा, "दर्द हमारे दिलों में भी मौजूद है, लेकिन हम उस दर्द को बहुत लंबे समय तक बने नहीं रहने देंगे..."

यह पूछे जाने पर कि क्या भारतीय सेना आतंकवादियों के खिलाफ जवाबी कार्रवाई करने के लिए फिर सीमा पार करेगी, राजनाथ सिंह ने कहा, "इस सवाल पर मुझे प्रतिक्रिया नहीं देनी चाहिए... जो ज़्यादा बोलते हैं, वह कुछ नहीं करते... हम पहले से घोषणा नहीं करेंगे, करके दिखाएंगे..."

सेनाधिकारी उमर फैयाज़ के पारिवारिक विवाह समारोह से अगवा कर मार डालने वाले आतंकवादियों के खिलाफ कार्रवाई के बारे में पूछे जाने पर केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, "देखते रहिए..." उन्होंने कहा, "उमर फैयाज़ के साथ जो कुछ भी हुआ, उसने सभी भारतीयों के दिलों में दर्द पैदा किया है... वह युवाओं के लिए रोल मॉडल थे..."

देश में माओवाद की समस्या को लेकर राजनाथ सिंह ने कहा कि पिछले दो साल के दौरान आत्मसमर्पण करने वाले माओवादियों की तादाद में 450 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है. इसके अलावा माओवादी गतिविधियों में भी 40 से 45 फीसदी की कमी आई है.

(इनपुट एजेंसियों से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement