‘BOM-DEL’ फ्लाइट का स्टेटस पूछना अमेरिकी CEO को पड़ा महंगा,  'Bomb है' समझकर हुआ गिरफ्तार

फोन ऑपरेटर ने ‘BOM-DEL’ फ्लाइट स्टेटस को फ्लाइट में 'बम है' समझ लिया और इस आरोप में विनोद मूरजानी को गिरफ्तार कर लिया गया. 

‘BOM-DEL’ फ्लाइट का स्टेटस पूछना अमेरिकी CEO को पड़ा महंगा,  'Bomb है' समझकर हुआ गिरफ्तार

विनोद मूरजानी को मुंबई से दिल्ली जाना था. उन्हें रविवार को गिरफ्तार किया गया था.

मुंबई:

मुंबई अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर फ्लाइट का स्टेटस पूछना एक अमेरिकी कंपनी के सीईओ को भारी पड़ गया. दरअसल, विनोद मूरजानी ने हवाईअड्डे पर फोन करके ‘BOM-DEL’ फ्लाइट का स्टेटस जानना चाहा था और तकनीकी खराबी के कारण उनका फोन कट गया. फोन ऑपरेटर ने इसे फ्लाइट में 'बम है' समझ लिया और इस आरोप में विनोद मूरजानी को गिरफ्तार कर लिया गया. अमेरिकी सीईओ विनोद मूरजानी को मुंबई से दिल्ली जाना था. शुरुआती जांच में ऐसा लगा था कि मूरजानी उड़ान में विलंब होने से नाराज था. मूरजानी को रविवार को हवाईअड्डे पर गिरफ्तार किया गया.

यह भी पढ़ें : गर्लफ्रेंड के लिए जेट विमान में रखा धमकी भरा पत्र, अब पुलिस की गिरफ्त में, जानिए क्या है पूरा मामला

अधिकारी ने बताया कि 45 वर्षीय विनोद को अपनी पत्नी और बच्चों के साथ दिल्ली से वर्जीनिया होकर रोम जाने वाले विमान में सवार होना था. मामले की जांच कर रहे अधिकारी ने बताया कि ऐसा लगता है कि उड़ान में विलंब से नाराज विनोद ने मुंबई अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा प्राइवेट लिमिटेड (एमआईएएल) के टॉल फ्री नंबर पर फोन किया और महिला ऑपेरटर से कहा, विमान में 'बम फटा है.' उन्होंने बताया कि इसके तुरंत बाद विनोद मूरजानी ने फोन रख दिया. ऑपरेटर ने वरिष्ठ अधिकारियों को बताया जिन्होंने पुलिस को सूचित किया.

यह भी पढ़ें : बम की सूचना के बाद कोलकाता एयरपोर्ट पर प्लेन की इमरजेंसी लैंडिंग

अधिकारी ने बताया कि जांच के बाद सहार पुलिस ने विनोद को गिरफ्तार किया. हवाईअड्डे के सीसीटीवी फुटेज में उसे एक टेलीफोन बूथ में देखा गया था. उन्होंने बताया कि विनोद एक अमेरिकी कंपनी में सीईओ है और उसने यह फोन दिल्ली की उड़ानों को बाधित करने के लिए किया, ताकि मुंबई से यात्रा में विलंब की स्थिति में वह देर रात को दिल्ली से रोम जाने वाले विमान में सवार हो सके.

अधिकारी ने बताया कि उसके खिलाफ भादंवि की धारा 506 (आपराधिक धमकी), 505 (लोगों को दहशत में डालने का इरादा) के तहत मामला दर्ज किया गया. इसके बाद उसे अंधेरी मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट कोर्ट के समक्ष पेश किया गया, जिसने उसे 15,000 रुपये की जमानत और इतनी ही राशि के मुचलके पर रिहा किया.

Newsbeep

VIDEO : पुलिस को झूठी खबर देने के शौक ने पहुंचाया जेल

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बहरहाल, अदालत के अधिकारियों के अनुसार विनोद के वकील ने अदालत में कहा कि उसके मुवक्किल ने केवल उड़ान के संबंध में जानकारी ली थी, जिसे कथित तौर पर गलत तरीके से पेश किया गया. वकील ने कहा कि ऑपरेटर ने फोन पर उसके मुवक्किल की बात को गलत समझा क्योंकि मूरजानी ने उससे 'बॉम-डेल स्टेटस' पूछा और टेलीफोन लाइन में व्यवधान की वजह से तत्काल फोन काट दिया. वकील का दावा है कि ऑपरेटर ने इसे 'बम है' समझ लिया.