सुशांत सिंह की बहनों के खिलाफ दर्ज मामले खरिज करने की अर्जी पर बांबे HC ने फैसला रखा सुरक्षित

सुशांत सिंह को उनके मुंबई स्थित आवास में मृत पाया गया था. CBI सुशांत की मौत के मामले की जांच हाथ में लेने के 145 दिन बाद भी किसी अंतिम नतीजे पर नहीं पहुंच पाई है.

सुशांत सिंह की बहनों के खिलाफ दर्ज मामले खरिज करने की अर्जी पर बांबे HC ने फैसला रखा सुरक्षित

सुशांत सिंह को पिछले साल उनके मुंबई स्थित आवास में मृत पाया गया था (फाइल फोटो)

खास बातें

  • दोनों पक्षों से लिखित जवाब एक हफ्ते में देने को कहा
  • सुनवाई के दौरान जस्टिस ने की सुशांत को लेकर भावुक टिप्‍पणी
  • पिछले साल मुंबई स्थित आवास के बाहर मृत पाए गए गए थे सुशांत
मुंंबई:

बॉलीवुड एक्‍टर (स्‍वर्गीय) सुशांत सिंह राजपूत (Sushant singh Rajput) की बहनों के खिलाफ दर्ज मामले को खारिज करने की अर्जी पर बॉम्बे हाईकोर्ट (Bombay high court) ने अपना फैसला सुरक्षित रखा है. अदालत ने सभी पक्षों को अपना लिखित जवाब एक हफ्ते के भीतर देने को कहा है. सुनवाई के अंत मे जस्टिस एसएस शिंदे ने सुशांत सिंह को लेकर बहुत भावुक टिप्पणी की. उन्होंने कहा "सुशांत सिंह के बारे में एक निर्विवाद तथ्य यह है कि वो एक बहुत ही शांत और अच्छे इंसान थे.हर कोई उनके अभिनय के लिए विशेष रूप से 'एमएस धोनी: द अनटोल्‍ड स्‍टोरी' में उनके अभिनय को लेकर प्यार करता था."गौरतलब है कि सुशांत की गर्लफ्रेंड रही रिया चक्रवर्ती ने इस बॉलीवुड अभिनेता की बहनों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी.इसमें सुशांत की बहनों पर उनकी मौत का आरोप लगाया था. एफआईआर को सुशांत की बहनों की ओर से अदालत में चुनौती दी गई है.

बहन श्वेता सिंह कीर्ति ने सुशांत सिंह राजपूत का शेयर किया Video, कहा था- अच्छी बात है कि ...


सुशांत सिंह को उनके मुंबई स्थित आवास में मृत पाया गया था. केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले की जांच हाथ में लेने के 145 दिन बाद भी किसी अंतिम नतीजे पर नहीं पहुंच पाई है. CBI ने कहा है कि सुशांत मामले में सभी पहलू पर गौर किया जा रहा है और फिलहाल किसी भी संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) को पत्र लिखकर जांच की स्थिति के बारे में जानकारी मांगी थी. इसके जवाब में जांच एजेंसी सीबीआई ने पीएमओ को यह स्टेटस रिपोर्ट भेजी है. स्वामी को 30 दिसंबर को भेजे जवाब में सीबीआई ने कहा, केंद्रीय एजेंसी गहनता और पूरे पेशेवर ढंग से मामले की जांच कर रही है. इसके लिए आधुनिक वैज्ञानिक तकनीकों का भी इस्तेमाल किया जा रहा है. जांच के दौरान मौत के सभी पहलू पर विचार किया जा रहा है और किसी भी एंगल को भी अभी किसी तरह से खारिज नहीं किया जा सकता.