लद्दाख में सेना को आसानी हो, इसके लिए दिन-रात काम कर रहा BRO

बॉर्डर रोड आर्गेनाइजेशन (Border Road Organisation) लेह में सड़क निर्माण और यातायात सुगम बनाने के लिए सड़कों के गड्ढों को भरने का काम कर रहा है.

लद्दाख में सेना को आसानी हो, इसके लिए दिन-रात काम कर रहा BRO

भारत-चीन के बीच सीमा विवाद बरकरार है. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • भारत-चीन के बीच सीमा विवाद
  • दिन-रात काम कर रहा है BRO
  • डबल शिफ्ट में काम कर रहे लोग
नई दिल्ली:

भारत-चीन (India China Clash) के बीच सीमा पर तनाव बरकरार है. इसके मद्देनजर लद्दाख (Ladakh) में LAC के पास सुरक्षाबलों (Security Forces) के फास्ट मूवमेंट और भारी-भरकम मशीनों व अन्य हथियारों को एक जगह से दूसरी जगह ले जाए जाने के लिए बॉर्डर रोड आर्गेनाइजेशन (Border Road Organisation) 24x7 काम कर रहा है. BRO लेह में सड़क निर्माण और यातायात सुगम बनाने के लिए सड़कों के गड्ढों को भरने का काम कर रहा है. लैंडस्लाइड की वजह से बंद पड़ी सड़कों को भी खोला जा रहा है.

BRO के अधिकारियों ने बताया कि भारत और चीन के बीच तनावपूर्ण स्थिति को देखते हुए काम की क्षमता को बढ़ाया गया है और ज्यादा लेबरों को जोड़ा गया है, जो नई मशीनों की मदद से सड़कें बना रहे हैं और रास्ता साफ करने के लिए चट्टानों को विस्फोटकों की मदद से तोड़ रहे हैं. वह लोग जल्द से जल्द काम पूरा करने के लिए डबल शिफ्ट में काम कर रहे हैं, खासकर सर्दियों के महीने शुरू होने से पहले.

मॉस्को में चीन के साथ बातचीत पर ओवैसी का तंज- ....क्या PM मोर के साथ खेलने में व्यस्त हैं?

BRO के एग्जीक्यूटिव इंजीनियर बी किशन ने कहा, 'मौजूदा हालात में सेना और अन्य सुरक्षाबलों को किसी भी भारी मशीनरी के परिवहन में मदद करने के लिए, BRO लेटेस्ट मशीनों का इस्तेमाल कर रहा है. ये देश के किसी भी अन्य हिस्से में नहीं मिलेंगी. इनकी मदद से हमारी सड़क बनाने की गति 10 गुना बढ़ गई है. साथ ही इनके इस्तेमाल से मानव जीवन के लिए जोखिम भी कम हुआ है.' BRO सुरक्षाबलों की जरुरत के हिसाब से मौजूदा सड़कों को भी जोड़ रहा है.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह रूस से ईरान के लिए रवाना, द्विपक्षीय रक्षा संबंधों पर करेंगे चर्चा

बताते चलें कि भारत और चीन के बीच सीमा पर अप्रैल माह से विवाद जारी है. जून में यह मामला तब तूल पकड़ा, जब लद्दाख स्थित गलवान घाटी में भारतीय सेना और चीनी सेना आमने-सामने आ गई थी. हिंसक झड़प में 20 भारतीय जवानों को जान गंवानी पड़ी. वहीं, चीन के भी दर्जनों सैनिक हताहत हुए. घटना के बाद सीमा पर शांति बनाए रखने के लिए कई बार कोर कमांडर स्तर की वार्ता हो चुकी है, जो हर बार बेनतीजा रही है.

Newsbeep

VIDEO: भारत और चीन के रक्षा मंत्रियों के बीच मुलाकात, दोनों देशों ने जारी किए बयान

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)