NDTV Khabar

घाटी में भी चोटी कटने से दहशत : जानकारी देने वाले को मिलेगा तीन लाख का इनाम

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने चोटी काटने वाले पर तीन लाख का इनाम घोषित किया, गंदेरबल जिले के रामपोरा इलाके में हुआ हंगामा

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
घाटी में भी चोटी कटने से दहशत : जानकारी देने वाले को मिलेगा तीन लाख का इनाम

प्रतीकात्मक फोटो.

खास बातें

  1. घाटी के हर जिले में विशेष जांच दल (एसआईटी) बनाया गया
  2. चोटी कटने की घटनाएं होने पर तेजी से कार्रवाई करने के आदेश
  3. जानकारी देने के लिए हर जिले में हेल्पलाइन नंबर दिए गए
श्रीनगर: अब तक आतंकवाद के कारण दहशत में डूबे रहे जम्मू-कश्मीर के लोगों में अब एक नई वजह से दहशत है. देश के विभिन्न हिस्सों में महिलाओं की चोटी कटने की खबरें काफी दिनों से सामने आ रही थीं, अब कश्मीर घाटी में भी चोटियां कटने के समाचार हैं. इन घटनाओं से परेशान पुलिस को चोटी काटने वाले पर इनाम घोषित करना पड़ा है.

जम्मू एवं कश्मीर पुलिस ने शुक्रवार को घोषणा की कि श्रीनगर घाटी में चोटी काटने की घटनाओं में शामिल लोगों को पकड़वाने वाले को तीन लाख रुपये का इनाम दिया जाएगा. पुलिस ने कहा कि घाटी के हर जिले में विशेष जांच दल (एसआईटी) बनाया गया है. उन्हें सतर्क रहने और ऐसी घटनाएं होने पर तेजी से कार्रवाई करने के आदेश दिए गए हैं.

यह भी पढ़ें : झारखंड में महिला की पीट- पीटकर हत्या, चोटी काटने वाले गिरोह में शामिल होने का था शक

एक पुलिस अधिकारी ने बताया, "हर जिले में हेल्पलाइन नंबर दिए गए हैं ताकि लोग इन नंबरों पर चोटी काटने की घटनाओं के बारे में विश्वसनीय जानकारी दे सकें."

यह भी पढ़ें : अब मुंबई में भी चोटी कटवा की दहशत! तीन मामले सामने आए

शुरू में कुलगाम जिले से ऐसी घटना की रिपोर्ट आई, लेकिन बाद में अन्य जिलों से भी ऐसी घटनाओं की खबरें आने लगीं. इन रहस्यमय घटनाओं में जिन महिलाओं पर हमला हुआ, वे कुछ समय के लिए बेहोश हो गईं. जब उन्हें होश आया, तो उन्होंने पाया कि उनके बाल कटे हुए हैं. इस घटना के कारण लोगों के मन में डर बैठ गया जबकि अलग-जगहों पर कुछ लोग इस घटना के बारे में गलत खबरें भी फैला रहे हैं.

टिप्पणियां
VIDEO : महिला का कत्ल

गुरुवार को गंदेरबल जिले के रामपोरा इलाके में भारी हंगामा हो गया, जहां एक छोटी लड़की ने आरोप लगाया कि उसकी चोटी किसी ने काट दी है. बड़ी संख्या में लोगों ने इकट्ठा होकर इस घटना के खिलाफ प्रदर्शन किया. पुलिस ने शुक्रवार को कहा कि लड़की को चिकित्सकों को दिखाया गया और उन्होंने बताया कि उसकी चोटी नहीं काटी गई है. दक्षिण कश्मीर के लोगों ने सुरक्षा बलों पर आरोप लगाया है कि वे लोगों को डराने के लिए इस मामले में कथित अपराधियों को बचा रहे हैं.
(इनपुट एजेंसियों से भी)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement