वीरता पुरस्कार विजेता ने प्रदर्शनों में बच्चों के शामिल होने के संबंध में सीजेआई को पत्र लिखा

ज़ेन गुणारत्न सदावर्ते ने चीफ जस्टिस एसए बोबडे को पत्र लिखकर अनुरोध किया है कि प्रदर्शनों में बच्चों को शामिल होने से रोकने के लिए निर्देश दिए जाएं

वीरता पुरस्कार विजेता ने प्रदर्शनों में बच्चों के शामिल होने के संबंध में सीजेआई को पत्र लिखा

दिल्ली के शाहीन बाग में नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन किया जा रहा है.

खास बातें

  • आयोजक और शिशु के माता-पिता उसके अधिकारों की रक्षा करने में विफल
  • प्रदर्शनकारियों में बच्चों को शामिल करना उनके अधिकारों का उल्लंघन
  • विरोध प्रदर्शन में बच्चों की संलिप्तता का संज्ञान लेने में पुलिस विफल रही
मुंबई/दिल्ली:

दिल्ली के शाहीन बाग विरोध प्रदर्शन में एक शिशु की मौत के कुछ दिन बाद राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार विजेता ज़ेन गुणारत्न सदावर्ते ने भारत के प्रधान न्यायाधीश (सीजेआई) एसए बोबडे को पत्र लिखकर अनुरोध किया है कि प्रदर्शनों में बच्चों को शामिल होने से रोकने के लिए निर्देश दिए जाएं. 12 वर्षीय छात्रा ने पत्र में कहा कि शाहीन बाग विरोध प्रदर्शन के आयोजक और शिशु के माता-पिता उसके अधिकारों की रक्षा करने में विफल रहे हैं.

दिल्ली के शाहीन बाग में संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के दौरान 30 जनवरी को चार माह के मोहम्मद जहां की मौत हो गई थी. पीटीआई ने इस शिशु की मां से सबसे पहले बात की थी. पत्र में मुंबई से सातवीं कक्षा की छात्रा ने आरोप लगाया कि शाहीन बाग में प्रदर्शनकारियों में शिशुओं और बच्चों को शामिल करना उनके अधिकारों का उल्लंघन है.

जेन ने अपने पत्र में कहा कि विरोध प्रदर्शन में बच्चों और शिशुओं को शामिल करना अत्याचार और क्रूरता है. उन्होंने कहा कि विरोध प्रदर्शन में बच्चों की संलिप्तता का संज्ञान लेने में पुलिस विफल रही. उन्होंने शीर्ष अदालत से बच्चों की इस तरह की संलिप्तता को रोकने के लिए अधिकारियों को निर्देश देने की अपील की.

चार साल के मासूम की मौत के बाद भी नहीं टूटा मां का हौसला, प्रदर्शन करने फिर पहुंची शाहीन बाग

जेन ने मुंबई में मीडिया संस्थानों को यह पत्र जारी भी किया और दावा कि यह घटना संविधान के अनुच्छेद 21 के तहत शिशु के जीवन के अधिकार का उल्लंघन है.

शाहीन बाग: जिस 4 महीने के मासूम की मौत ठंड लगने से हुई, उसकी मां बोलीं- देश के लिए करते रहेंगे प्रदर्शन, हमारे पास कोई कागजात नहीं

VIDEO : शाहीन बाग प्रयोग है तो इसे ऐसा ही समझकर पीएम मोदी बात करने आएं



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com