गणतंत्र दिवस पर भारत आएंगे ब्रिटेन के PM बोरिस जॉनसन, प्लान में अब तक कोई बदलाव नहीं : सूत्र

भारत ने गणतंत्र दिवस के लिए ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन को समारोह के मुख्य अतिथि के तौर पर बुलावा भेजा था, जिसे जॉनसन ने स्वीकार कर लिया था.

गणतंत्र दिवस पर भारत आएंगे ब्रिटेन के PM बोरिस जॉनसन, प्लान में अब तक कोई बदलाव नहीं : सूत्र

फाइल फोटो

नई दिल्ली:

ब्रिटेन में कोरोनावायरस के मामले बढ़ने के बीच प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (British PM Boris Johnson) इस महीने के अंत में भारत के दौरे पर आएंगे. उन्हें गणतंत्र दिवस (Republic Day) समारोह में बतौर मुख्य अतिथि शिरकत करना है. ब्रिटिश उच्चायोग के सूत्रों ने कहा कि ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन भारत आएंगे. फिलहाल, उनके प्लान में किसी तरह का बदलाव नहीं हुआ है. बता दें कि ब्रिटेन में कोरोनावायरस का नया स्ट्रेन मिलने के बाद वहां लॉकडाउन (Lockdown) लगाया गया है ताकि संक्रमण को फैलने रोका जा सके. 

भारत ने गणतंत्र दिवस के लिए ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन को समारोह के मुख्य अतिथि के तौर पर बुलावा भेजा था, जिसे जॉनसन ने दिसंबर महीने में स्वीकार कर लिया था. उनके कार्यालय की ओर से यह जानकारी दी गई थी. 

ब्रिटिश प्रधानमंत्री की भारत यात्रा ऐसे समय हो रही है जब ब्रिटेन में कोरोना का म्युटेंट स्ट्रेन पाए जाने के बाद तेजी से संक्रमण के मामले बढ़े हैं. माना जा रहा है कि वायरस का नया प्रकार तेजी से संक्रमण फैलाता है. नए वायरस के सामने आने के बाद कई देशों ने यात्रा संबंधी प्रतिबंध लगाए हैं, यात्रा पर अस्थायी बैन लगाने के बावजूद 30 से ज्यादा देशों में म्युटेंट वर्जन से संक्रमण के मामले पाए गए हैं. भारत में इस तरह के 58 मरीज मिले हैं. ये सभी मरीज या तो ब्रिटेन से आए हैं या फिर ब्रिटेन के यात्रियों के संपर्क में आए थे. 

जॉनसन के कार्यालय ने पिछले महीने कहा, "जॉनसन भारत की अपनी यात्रा का उपयोग उन क्षेत्रों में सहयोग को बढ़ावा देने के लिए करेंगे जो ब्रिटेन के लिए मायने रखते हैं. 2021 के दौरान व्यापार और निवेश से लेकर रक्षा और सुरक्षा तथा स्वास्थ्य एवं जलवायु परिवर्तन जैसे मुद्दे प्राथमिकता में होंगे."

बोरिस जॉनसन की ब्रिटेन की सत्ता संभालने के बाद यह पहली भारत यात्रा होगी. इसके साथ ही वो भारत की स्वतंत्रता के बाद से गणतंत्र दिवस पर भारत के गेस्ट ऑफ ऑनर बनने वाले दूसरे ब्रिटिश नेता होंगे. इसके पहले, 1993 में जॉन मेजर आए थे.


(एएफपी के इनपुट के साथ)

वीडियो: भारत बायोटेक या सीरम इंस्टीट्यूट : किसकी वैक्सीन है बेहतर?

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com