NDTV Khabar

बाढ़ का कहर : ओडिशा में बहा रेलवे पुल, छत्तीसगढ़ में कई रेलगाड़ियां प्रभावित

स्थिति को देखते हुए केंद्र सरकार ने बस्तर में कार्यरत वायुसेना के हेलीकॉप्टर को बचाव कार्य के लिए रविवार शाम ओडिशा रवाना किया गया

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बाढ़ का कहर : ओडिशा में बहा रेलवे पुल, छत्तीसगढ़ में कई रेलगाड़ियां प्रभावित

छत्तीसगढ़ में रेलगाड़ियां हुईं प्रभावित

खास बातें

  1. भारी बारिश के कारण कोरापुट-रायगाड़ा रेल मार्ग पर एक पुल बह गया है
  2. हादसे के बाद तत्काल इस मार्ग से गुजरने वाली 11 ट्रेनें रद्द कर दी गईं हैं
  3. चार रेलगाड़ियों का मार्ग बदल कर चलाया जा रहा है
जगदलपुर: छत्तीसगढ़ के बस्तर संभाग में पिछले तीन दिनों से हो रही भारी बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त है. वहीं बस्तर सीमा से लगे ओडिशा राज्य में भारी बारिश के चलते रेलमार्ग पर एक पुल बह जाने के कारण कई रेलगाड़ियों का आवागमन रोक दिया गया है. ऐसी स्थिति को देखते हुए केंद्र सरकार ने बस्तर में कार्यरत वायुसेना के हेलीकॉप्टर को बचाव कार्य के लिए रविवार शाम ओडिशा रवाना किया गया. बस्तर संभाग में हो रही वर्षा से इंद्रावती, शबरी, शंकनी-डंकनी नदी का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है. जगदलपुर में इंद्रावती नदी का जलस्तर खतरे के निशान से तीन मीटर नीचे है. 

दक्षिण-पूर्व रेलवे वाल्टेयर रेलमंडल के जनसंपर्क अधिकारी जयराम बिरलंगी ने सोमवार को बताया, 'ओडिशा में हो रही भारी बारिश के कारण कोरापुट-रायगाड़ा रेल मार्ग पर एक पुल बह गया है. इससे छत्तीसगढ़ आने-जाने वाली दर्जनों रेलगाड़ियां प्रभावित हुई हैं. घटना रविवार सुबह करीब 11 बजे की है. जिस समय रेलवे का पुल टूटा, उस समय वहां से एक मालगाड़ी गुजरने वाली थी, जिसे वहां तैनात गैंगमेन ने एक किलोमीटर दूर जाकर रुकवा दिया. इससे एक बड़ा हादसा टल गया. थिरूवेली स्टेशन के पास स्थित करीब 125 मीटर लंबे रेल पुल (ब्रिज नंबर 588) के दो खंभे बाढ़ से बह गए. पुल के टूटने से टिटलागढ़-रायगढ़ा के बीच आवागमन पूरी तरह ठप है.

यह भी पढ़ें
असम में बाढ़ से हालात खराब, 61 की मौत, 10 लाख से ज्यादा प्रभावित
पूर्वोत्तर बाढ़ से बेहाल, अब तक 100 लोगों की जा चुकी है जान

उन्होंने कहा, 'दूसरी लाइन में भी आवागमन रोक दिया गया है और बारिश थमने के बाद पुल की जांच की जाएगी. इसके बाद ही तय किया जाएगा कि ट्रेन चलाई जाए या नहीं. हादसे के बाद तत्काल इस मार्ग से गुजरने वाली 11 ट्रेनें रद्द कर दी गईं, चार रेलगाड़ियों का मार्ग बदल कर चलाया जा रहा है. एक दर्जन से अधिक रेलगाड़ियों की दूरी घटा दी गई है.'

जयराम ने कहा, 'रेल पुल बहने का असर जगदलपुर व कोरापुट आने-जाने वाली यात्री ट्रेनों पर भी पड़ा है. इसके अलावा रायपुर से विशाखापट्टनम की ओर आने-जाने वाली रेलगाड़ी भी प्रभावित हुई है. रेल आवागमन बहाल होने में कई दिन लग सकते हैं. रेल पुल बहने से हावड़ा से जगदलपुर आने वाली 18005 समलेश्वरी एक्सप्रेस सोमवार को टिटलागढ़ से लौटा दी गई.' 



उन्होंने कहा कि इसी तरह जगदलपुर से हावड़ा जाने वाली 18006 समलेश्वरी एक्सप्रेस को रायगढ़ा में रद्द कर वापस जगदलपुर रवाना करना पड़ा. दुर्ग-जगदलपुर एक्सप्रेस, कोरापुट-राउरकेला एक्सप्रेस, कोरापुट-संबलपुर एक्सप्रेस को आगामी आदेश तक के लिए रद्द कर दिया गया है.

 

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement