NDTV Khabar

बीकानेर की तनुश्री पारीक बनी देश की पहली महिला बीएसएफ अधिकारी

411 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
बीकानेर की तनुश्री पारीक बनी देश की पहली महिला बीएसएफ अधिकारी

राजस्थान की तनुश्री पारीक देश की पहली बीएसएफ महिला अधिकारी बन गई हैं

खास बातें

  1. तनुश्री ने BSF अकादमी में 40वें बैच में 52 हफ्तों का प्रशिक्षण लिया
  2. बीकानेर की रहने वाली तनुश्री बचपन से ही सेना में जाना चाहती थी
  3. गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने BSF में महिला अधिकारी आने पर जताई खुशी
ग्वालियर: देश की महिलाएं चुनौती वाले क्षेत्रों में भी बढ़चढ़ कर न केवल हिस्सा ले रही हैं, बल्कि अपने साहस से नितनई शौर्यगाथाएं भी लिख रही हैं. वैसे तो सुरक्षा के लगभग हर क्षेत्र में महिलाएं अपनी पहचान कायम कर चुकी हैं, मगर सीमा सुरक्षा बल यानी बीएसएफ अभीतक इनसे अछूता था. राजस्थान की तनुश्री ने बीएसएफ में असिस्टेंट कमांडेंट बनकर इस कमी को भी पूरा कर दिया.

राजस्थान की तनुश्री पारीक देश की पहली बीएसएफ महिला अधिकारी बन गई हैं. बीएसएफ अकादमी में आयोजित दीक्षांत समारोह के बाद वह एक अधिकारी बन गईं. उन्होंने दीक्षांत परेड का नेतृत्व भी किया. उन्हें इस मौके पर सम्मानित किया गया.

 केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने तनुश्री के अधिकारी बनने पर कहा, "इस बात की खुशी है कि बीएसएफ को पहली फील्ड ऑफिसर मिली है. उम्मीद करता हूं कि और भी महिला अधिकारी आ रही हैं, जो सीमाओं की सुरक्षा करेंगी. सेना और अर्धसैनिक बलों में महिला अधिकारी भी अपनी जिम्मेदारी का बेहतर तरीके से निर्वहन कर रही हैं."

तनुश्री ने टेकनपुर स्थित सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) अकादमी में आयोजित पासिंग आउट परेड में देश की पहली महिला अधिकारी (असिस्टेंट कमांडेंट) के रूप में हिस्सा लिया. उन्होंने बीएसएफ अकादमी में अधिकारियों के 40वें बैच में बतौर सहायक कमांटेंड 52 हफ्तों का प्रशिक्षण लिया था.

तनुश्री पारीक राजस्थान में बीकानेर की रहने वाली है. वह बताती हैं कि उन्हें बचपन से भी सेना में जाने की लगन थी और स्कूल टाइम में उन्होंने एनसीसी में हिस्सा लिया था.

(इनपुट आईएएनएस से भी)
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement