NDTV Khabar

समर्थन देने के बाद मायावती ने कांग्रेस पर साधा निशाना, कहा- जनता ने दिल पर पत्थर रखकर जिताई हैं इतनी सीटें

मायावती (Mayawati) ने बुधवार को जारी एक बयान में कहा कि हमारी पार्टी ने यह चुनाव भाजपा को सत्ता से बाहर करने के लिए लड़ा था, लेकिन दुःख की बात यह है कि हमारी पार्टी अपने इस मकसद में कामयाब नहीं हो सकी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
समर्थन देने के बाद मायावती ने कांग्रेस पर साधा निशाना, कहा- जनता ने दिल पर पत्थर रखकर जिताई हैं इतनी सीटें

मायावती ने कांग्रेस पर किया हमला

खास बातें

  1. कांग्रेस को पूरे करने होंगे अपने वादे - मायावती
  2. बीजेपी को सत्ता से बाहर रखने के लिए कांग्रेस को दिया समर्थन
  3. कांग्रेस को जनता ने मजबूरी में चुना है -मायावती
नई दिल्ली:

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) ने हाल में हुए पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव (Assembly Election) में प्रदर्शन को लेकर कांग्रेस (Congress) पर हमला बोला है. बसपा प्रमुख मायावती (Mayawati) ने बुधवार को कहा कि मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में बीजेपी की गलत नीतियों से दुखी होने की वजह से ही लोगों ने कांग्रेस को अधिक सीटें दी हैं. आम जनता ने अपने दिल पर पत्थर रखकर, न चाहते हुए भी कांग्रेस (Congress) का समर्थन किया है. मायावती (Mayawati) ने बुधवार को जारी एक बयान में कहा कि हमारी पार्टी ने यह चुनाव भाजपा को सत्ता से बाहर करने के लिए लड़ा था, लेकिन दुःख की बात यह है कि हमारी पार्टी अपने इस मकसद में कामयाब नहीं हो सकी. मुझे मालूम हुआ है कि मध्य प्रदेश में अभी भी भाजपा (BJP) सत्ता में आने के लिए जोड़-तोड़ में लगी है. इसे रोकने के लिए हमारी पार्टी ने कांग्रेस की सोच और नीतियों से सहमत ना हुए भी, मध्य प्रदेश में कांग्रेस (Congress) को सरकार बनाने के लिए समर्थन देने का फैसला किया है. जिससे भाजपा अपने मकसद में कामयाब ना हो सके.

यह भी पढ़ें: विपक्षी दलों की बैठक आज: क्या महागठबंधन की कवायद को मायावती दे सकती हैं झटका


मायावती ने कहा कि यदि इस मामले में राजस्थान में भी कांग्रेस को बसपा के समर्थन जरूरत महसूस हुई तो वहां भी भाजपा को सत्ता में आने से रोकने के लिए कांग्रेस को समर्थन दिया जा सकता है. बता दें कि मध्य प्रदेश और राजस्थान में भाजपा व कांग्रेस में से किसी दल को पूर्ण बहुमत नहीं मिला है. इन राज्यों में बसपा को मध्य प्रदेश में दो और राजस्थान में छह सीटें मिली है. वहीं मध्य प्रदेश में सामान्य बहुमत के जादुई आंकड़े से महज दो सीट पीछे रही कांग्रेस को 114 और भाजपा को 109 सीट मिली हैं जबकि राजस्थान में कांग्रेस ने 99 और भाजपा ने 73 सीटें जीती हैं. उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने बसपा को चुनाव में उम्मीद के मुताबिक कामयाबी नहीं मिलने का जिक्र करते हुये कहा कि छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, और राजस्थान में जनता केन्द्र एवं इन राज्यों में भाजपा सरकारों की गलत नीतियों से इतना ज्यादा दुःखी हो गयी थी कि किसी भी कीमत पर भाजपा को फिर से सत्ता में वापस आते नहीं देखना चाहती थी.

यह भी पढ़ें: विपक्षी दलों की बैठक आज: क्या महागठबंधन की कवायद को मायावती दे सकती हैं झटका

उन्होंने कहा कि इसके मद्देनजर लोगों ने अपने दिल पर पत्थर रखकर, नहीं चाहते हुये भी,इन राज्यों में काफी सालों तक सत्ता में रही कांग्रेस को ही मजबूत विकल्प मानकर वोट दिया. मायावती ने कहा कि कांग्रेस लोकसभा चुनाव में भी जनता की इस मजबूरी का लाभ उठाने की कोशिश करेगी. इसके मद्देनजर मायावती ने कांग्रेस और भाजपा की सरकारों में दलित, अल्पसंख्यकों, मजदूर और किसानों का शोषण बंद नहीं होने का हवाला देते हुये बसपा कार्यकर्ताओं से अगले साल लोकसभा चुनाव के लिये अभी से जुटने का आह्वान किया.

टिप्पणियां

VIDEO: मायावती ने कहा कि बीजेपी से जनता परेशान थी.

इस बीच सपा ने भी मध्यप्रदेश में कांग्रेस को सरकार बनाने में समर्थन देने की घोषणा की है. सपा को राज्य में एक सीट मिली है. वहीं सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने ट्वीट कर कहा कि समाजवादी पार्टी मध्य प्रदेश में सरकार बनाने के लिए कांग्रेस का समर्थन करती है. (इनपुट भाषा से) 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement