आरोपी बसपा विधायक जांच होने तक पार्टी से निलम्बित

खास बातें

  • किशोरी ने नरैनी से बसपा विधायक द्विवेदी तथा उनके समर्थकों पर दुराचार और आपराधिक मामले में फंसाने का आरोप लगाया है।
लखनउ:

उत्तर प्रदेश के बांदा जिले में बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के विधायक पुरुषोत्तम नारायण द्विवेदी द्वारा कथित तौर पर पिछड़ी जाति की किशोरी से बलात्कार किए जाने के मामले की जांच कराने के राज्य सरकार के आदेश के एक दिन बाद रविवार आरोपी विधायक को तफ्तीश जारी रहने तक पार्टी से निलम्बित कर दिया गया। बसपा के सूत्रों ने बताया, बसपा विधायक पुरुषोत्तम द्विवेदी को बांदा में पिछड़ी जाति की किशोरी से बलात्कार के मामले की जांच जारी रहने तक पार्टी से निलम्बित कर दिया गया है। गौरतलब है कि प्रदेश की मुख्यमंत्री मायावती ने बांदा में एक किशोरी से बलात्कार के बाद उसे झूठे मामले में फंसाने के आरोपों की कल सीबीसीआईडी से जांच कराने के आदेश दिए थे। किशोरी ने नरैनी से बसपा विधायक द्विवेदी तथा उनके समर्थकों पर दुराचार और आपराधिक मामले में फंसाने का आरोप लगाया है। कथित रूप से बलात्कार और पुलिस उत्पीड़न की शिकार शीलू के पिता अच्छेलाल के मुताबिक उनकी बेटी कुछ महीने पहले मध्य प्रदेश के पन्ना जिले में अपने मामा के घर गई थी और वहां वह लापता हो गई थी। राष्ट्रीय अनूसूचित जाति जनजाति आयोग ने भी रविवार को नाबालिग लड़की से दुराचार के मामले में राज्य सरकार और बांदा के पुलिस अधीक्षक से रिपोर्ट तलब की थी। आयोग के अध्यक्ष पीएल पुनिया ने कहा कि बांदा जिले में पिछड़ी जाति की नाबालिग लड़की से बसपा के विधायक व उसके कुछ साथियों द्वारा कथित तौर पर किए गये दुराचार के मामले को आयोग ने गंभीरता से लिया है और इस पूरे प्रकरण में राज्य सरकार तथा जिले के पुलिस अधीक्षक से विस्तृत रिपोर्ट मांगी है। बसपा विधायक द्विवेदी पर शीलू (17) से बलात्कार करने के साथ-साथ उसे अपनी लाइसेंसी बंदूक और पांच हजार रुपए चोरी करने के आरोप में जेल भेजवाने का भी आरोप है। कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष रीता बहुगुणा जोशी ने इस मामले के दोषी लोगों की गिरफ्तारी और प्रकरण की उच्चस्तरीय न्यायिक जांच कराने की मांग की है।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com