NDTV Khabar

क्या बसपा ने लोकसभा चुनाव के लिए जारी कर दी है उम्मीदवारों की सूची? यह है सच्चाई

एनडीटीवी से बातचीत में बसपा के प्रदेश अध्यक्ष आरएस कुशवाहा ने कहा, ''हमारी तरफ से ऐसी कोई लिस्ट जारी नहीं की गई है. यह किसी की शरारत है'.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
क्या बसपा ने लोकसभा चुनाव के लिए जारी कर दी है उम्मीदवारों की सूची? यह है सच्चाई

बसपा ने कहा कि पार्टी की तरफ से उम्मीदवारों की कोई सूची जारी नहीं की गई है.

खास बातें

  1. बसपा ने कहा, नहीं जारी की गई है ऐसी कोई लिस्ट
  2. बीएसपी अध्यक्ष ने कहा, यह किसी की शरारत
  3. पार्टी की तरफ से दर्ज करवाई गई एफआईआर
नई दिल्ली :

सपा-बसपा गठबंधन (SP-BSP Alliance) के ऐलान के दो दिनों के अंदर ही सोमवार को बसपा के उम्मीदवारों से जुड़ी एक लिस्ट (BSP List) सोशल मीडिया पर वायरल हो गई. इस लिस्ट में बाकायदा 38 लोकसभा क्षेत्र और यहां से चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों का नाम था. लिस्ट में सबसे पहला ही नाम बसपा सुप्रिमो मायावती का था और दावा किया गया कि वे सहारनपुर लोकसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ेंगी.देखते ही देखते यह लिस्ट वाट्सएप, फेसबुक, ट्विटर आदि पर वायरल हो गई. हालांकि बसपा ने साफ किया है कि यह लिस्ट फर्जी है. एनडीटीवी से बातचीत में बसपा के प्रदेश अध्यक्ष आरएस कुशवाहा ने कहा, ''हमारी तरफ से ऐसी कोई लिस्ट जारी नहीं की गई है. यह किसी की शरारत है. इस मामले में एफआईआर दर्ज करवा दी गई है''. उन्होंने आगे कहा, ''ऐसा लगता है कि विपक्ष हमारे गठबंधन से घबरा गया है और इस तरह के हथकंडे अपना रहा है''. 

j55au9q

सोशल मीडिया बीएसपी के उम्मीदवारों से जुड़ी यह लिस्ट वायरल हुई है.


आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव 2019 की तैयारियों में जुटी सपा और बसपा ने दो दिनों पहले ही दोनों दलों के गठबंधन का औपचारिक ऐलान किया था. इस ऐलान के मुताबिक, यूपी की 80 सीटों में 38-38 सीटों पर सपा और बसपा लड़ेगी. कांग्रेस की परंपरागत सीट अमेठी और रायबरेली में महागठबंधन कोई उम्मीदवार नहीं उतारेगा. दोनों दलों के बीच गठबंधन के औपचारिक ऐलान के दौरान मायावती ने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा, वहीं अखिलेश यादव ने बीजेपी पर हमला बोला. अखिलेश यादव ने कहा कि मायावती का अपमान मेरा अपमान है. वहीं मायावती ने कहा कि गेस्ट हाउस कांड को भुलाकर हम साथ आए हैं ताकि देश को बीजेपी से बचा सकें. 

कौन किस सीट पर लड़ेगा, कल हो सकता ऐलान   

टिप्पणियां

सूत्रों के मुताबिक सपा-बसपा के बीच बंटवारे वाली सीटों पर आपसी सहमति लगभग बन गयी है. इसकी सार्वजनिक घोषणा बसपा प्रमुख मायावती के 15 जनवरी को जन्मदिन के मौके पर या इसके एक दो दिन के भीतर कर दी जायेगी. इससे पार्टी कार्यकर्ता समय रहते चुनावी तैयारियों में जुट सकेंगे. प्रचार अभियान का आगाज अखिलेश और मायावती की उत्तर प्रदेश के प्रमुख शहरों में साझा रैलियों से होगा. बसपा के एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि इसकी शुरुआत लखनऊ, गोरखपुर, वाराणसी और प्रयाग सहित अन्य प्रमुख शहरों से होगी. उन्होंने बताया कि दोनों दलों का शीर्ष नेतृत्व चुनाव प्रचार अभियान को जल्द अंतिम रूप देकर रैलियों की जगह और समय का निर्धारण करेंगे. 

वीडियो : बीएसपी की अहम बैठक


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement