Budget 2020: बहुचर्चित मामलों की जांच के बोझ में दबे CBI के बजट में मामूली बढ़ोतरी

कई बहुचर्चित मामलों की जांच के बोझ से दबे CBI के लिए अगले वित्त वर्ष के केंद्रीय बजट में 802 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है जो चालू वित्तवर्ष के मुकाबले महज चार करोड़ रुपये अधिक है.

Budget 2020: बहुचर्चित मामलों की जांच के बोझ में दबे CBI के बजट में मामूली बढ़ोतरी

CBI के लिए अगले वित्त वर्ष के केंद्रीय बजट में 802 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

कई बहुचर्चित मामलों की जांच के बोझ से दबे CBI के लिए अगले वित्त वर्ष के केंद्रीय बजट में 802 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है जो चालू वित्तवर्ष के मुकाबले महज चार करोड़ रुपये अधिक है. वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा शनिवार को पेश आम बजट में CBI के लिए 2019-20 के 798 करोड़ के मुकाबले 2020-2021 में 802.19 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं. यह राशि पिछले साल के मुकाबले महज 0.5 फीसदी अधिक है. अधिकारियों ने बताया कि सीमित मानव संसाधन के साथ एजेंसी प्रत्यर्पण के मामलों को देख रही है और घरेलू स्तर पर भ्रष्टाचार, बैंक घोटाले एवं विशेष आपराधिक मामलों की जांच कर रही है. 

बजट 2020: देश में खुलेगा राष्ट्रीय पुलिस विश्वविद्यालय, राष्ट्रीय फॉरेंसिक विज्ञान विश्वविद्यालय

वित्तवर्ष 2019-2020 में सीबीआई को शुरुआत में 781.01 करोड़ रुपये आवंटित किए गए थे. यह राशि बाद में संशोधित कर 798 करोड़ रुपये कर दी गयी थी. बजट दस्तावेज में कहा गया, यह प्रावधान केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो के अवस्थापना संबंधी खर्च के लिए गए हैं, जो लोक सेवकों, व्यक्तियों और कंपनियों के खिलाफ गंभीर भ्रष्टाचार और अन्य जघन्य अपराधों की जांच और अभियोजन की जिम्मेदारी निभा रही है." 

वित्तमंत्री ने किया है राहत का दावा, लेकिन हो सकता है, नई दरें अपनाने पर देना पड़े ज़्यादा इनकम टैक्स

बजट दस्तावेज के मुताबिक एजेंसी की विभिन्न परियोजाओं जैसे सीबीआई ई-गवर्नेंस, प्रशिक्षण केंद्रों का आधुनिकीकरण, तकनीकी और फॉरेंसिक सहायता इकाइयों की स्थापना, विस्तृत आधुनिकीकरण, भूमि खरीद और कार्यालय या आवास के निर्माण आदि के लिए भी राशि का आवंटन इसमें शामिल है.  

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

Video: सबसे लंबा बजट भाषण पढ़ने के दौरान वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की बिगड़ी तबियत