NDTV Khabar

बजट छपने से पहले वित्त मंत्रालय में बना हलवा, जानें क्यों होता हर साल ये आयोजन

संसदीय मामलों की कैबिनेट कमेटी (CCPA) की बैठक में फैसला लिया गया है कि अंतरिम बजट 1 फरवरी को पेश किया जाएगा.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बजट छपने से पहले वित्त मंत्रालय में बना हलवा, जानें क्यों होता हर साल ये आयोजन

वित्त मंत्रालय में बजट के छपने से पहले बना हलवा

नई दिल्ली:

वित्त मंत्रालय में बजट के दस्तावेजों के प्रिंटिंग का काम शुरू होने से पहले परंपरा के मुताबिक 'हलवा समारोह' का आयोजन किया गया. इस मौके पर केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री शिव प्रताप शुक्ला, सचिव सुभाष गर्ग, केंद्रीय मंत्री पी.राधाकृष्णन मौजूद थे. बजट बनाने के काम में लगे अधिकारी और कर्मचारी हलवा सेरेमनी के साथ ही बजट बनाने के काम में जुट जाते हैं और ये तमाम लोग और वित्त मंत्रालय के 100 अधिकारी बजट पेश होने तक नजरबंद कर दिए जाते हैं. बजट पेश होने तक ये लोग घर-परिवार और समाज से कटे रहते हैं. उनके पास केवल एक फोन होता है जिसके जरिए वे केवल कॉल रिसीव कर सकते हैं, मगर कहीं कॉल कर नहीं सकते हैं. बजट पत्र वित्त मंत्रालय के निजी प्रेस में छपते हैं.

 


 

अंतरिम बजट पेश करने अमेरिका से वापस लौटेंगे वित्त मंत्री अरुण जेटली- सूत्र

जब बजट का प्रारूप तैयार हो जाता है और छपाई के लिए उसे भेजा जाता है, तो छपाई का काम शुरु होने से पहले ही यह हलवा बनाने की रस्म पूरी की जाती है. सभी अधिकारी बजट का फाइनल काम शुरु होने से पहले इसका उत्सव मनाते हैं. इन अधिकारियों और कर्मचारियों को कड़ी सुरक्षा के बीच रखा जाता है.

बजट 2019: रीयल एस्टेट सेक्टर ने मोदी सरकार से लगाई यह उम्मीद

टिप्पणियां

आपको बता दें कि संसदीय मामलों की कैबिनेट कमेटी (CCPA) की बैठक में फैसला लिया गया है कि अंतरिम बजट 1 फरवरी को पेश किया जाएगा, और संसद का बजट सत्र 31 जनवरी से 13 फरवरी तक चलेगा. मोदी सरकार के इस कार्यकाल का यह आखिरी बजट है. माना जा रहा है कि इस बार के बजट में मोदी सरकार लोकसभा चुनाव के लिए कोई बड़ा दांव चल सकती है.

क्या अपने अंतिम बजट में मोदी सरकार खोलेगी खजाना?​



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement