बुलंदशहर में इंस्पेक्टर सिंह की मौत गोली लगने से हुई, उपद्रवी पिस्टल लूटकर ले गए

पोस्ट मार्टम रिपोर्ट में हुआ खुलासा, इंस्पेक्टर सुबोध सिंह को बांयी आंख की भौं के पास गोली लगी

बुलंदशहर में इंस्पेक्टर सिंह की मौत गोली लगने से हुई, उपद्रवी पिस्टल लूटकर ले गए

बुलंदशहर में घटनास्थल की दृश्य.

खास बातें

  • घायल इंस्पेक्टर को ले जाने की कोशिश की तो वाहन पर पथराव किया
  • डीएम अनुज झा ने मामले की मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिए
  • उत्पात में स्थानीय युवक 18 वर्षीय सुमित कुमार की मौत हुई
बुलंदशहर:

बुलंदशहर में इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की मौत गोली लगने से हुई. पोस्ट मार्टम रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है. पोस्ट मार्टम रिपोर्ट के अनुसार सुबोध सिंह को बांयी आंख की भौं के पास गोली लगी. यह  गोली .32 की थी. उपद्रवी सुबोध कुमार सिंह की सरकारी पिस्टल भी लूटकर ले गए.   

बुलंदशहर में भीड़ के पुलिस पर हमले की घटना को लेकर डीएम अनुज झा ने बताया कि 10-11 बजे के बीच हमें सूचना मिली की गोकशी की गई है. खेत में गौवंश के अवशेष मिले. वहां पर पुलिस के लोग पहुंचे. उन्होंने लोगों को समझाया. करीब तीस-चालीस लोग अवशेष ट्राली में भरकर रोड जाम करने लगे. पुलिस ने धक्का लगाकर ट्राली हटाने की कोशिश की, लेकिन पथराव शुरू हो गया. इसमें हमारे एसएचओ की मौत हो गई.

यह भी पढ़ें : उत्तर प्रदेश : बुलंदशहर में गोकशी को लेकर हिंसक हुई भीड़, पुलिस इंस्‍पेक्‍टर और एक नागरिक की मौत; SIT करेगी जांच

झा ने बताया कि मौके पर जब सुबोध सिंह के साथियों ने देखा कि वे घायल हो गए तो उन्हें गाड़ी में ले जाने लगे, लेकिन गाड़ी पर फिर पथराव हो गया. उन्होंने बताया कि जिस समय वीडियो बनाया गया उस समय वापस पथराव शुरू हो गया. उन्हें अस्पताल ले जाया गया, जहां वे मृत पाए गए. उन्होंने बताया कि एक गोली उनके स्कल में मिली. हमने भी मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिए हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO  : भीड़ के हमले में इंस्पेक्टर की मौत

उन्होंने कहा कि चार-पांच पशुओं के अवशेष हैं. मैं बिसाहड़ा कांड के बारे में कुछ नहीं कह सकता. मैं वहां तैनात नहीं रहा. उन्होंने बताया कि एक स्थानीय युवक की मौत हुई है. युवक का नाम सुमित कुमार (18) है.