NDTV Khabar

पीएम मोदी की रैली के लिए ऑपरेटर्स ने बस देने से किया इन्कार, कहा-पहले 3 करोड़ बकाया चुकाओ

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में मंगलवार को होने वाले कार्यकर्ता महाकुंभ में बीजेपी ने दस लाख कार्यकर्ताओं को जुटाने का लक्ष्य रखा है. उधर बस ऑपरेटर्स ने बस देने से मना कर दिया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पीएम मोदी की रैली के लिए ऑपरेटर्स ने बस देने से किया इन्कार, कहा-पहले 3 करोड़ बकाया चुकाओ

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की फाइल फोटो.

खास बातें

  1. पीएम मोदी की भोपाल रैली के लिए बस देने से इन्कार
  2. ऑपरेटर्स बोले- पहले बीजेपी चुकाए तीन करोड़ का बकाया बिल
  3. बस न मिलने से रैली में दस लाख भीड़ कैसे जुटेगी, बीजेपी परेशान
नई दिल्ली:

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में मंगलवार को होने वाले कार्यकर्ता महाकुंभ के लिए राज्यभर से कार्यकर्ता लाने का जिम्मा प्रदेश इकाई को सौंपा गया है, मगर बस ऑपरेटरों ने पुराना बकाया का भुगतान न होने के कारण बसें देने से इनकार कर दिया है. वहीं राज्य के परिवहन मंत्री भूपेंद्र सिंह का कहना है कि बस संचालकों से बातचीत हो गई है. बस ऑपरेटरों के प्रतिनिधि ने संवाददाताओं से चर्चा के दौरान बताया कि पूर्व में आयोजित भाजपा की रैलियों में राज्यभर से बसों में भरकर कार्यकर्ता लाए गए. उसका बकाया लगभग तीन करोड़ 17 लाख रुपये है, मगर उसका भुगतान अब तक नहीं किया गया है. बस ऑपरेटरों ने पहले बकाया के भुगतान की मांग की है. 

टिप्पणियां

बस ऑपरेटरों का कहना है कि पूर्व में भी भाजपा और सरकार के कार्यक्रम हुए, जिनमें बस संचालकों को बड़े पैमाने पर नुकसान हुआ है.लिहाजा, बस ऑपरेटर अपनी इस मांग पर अड़े हैं कि पुराना भुगतान किया जाए, उसके बाद ही वे बसों को भोपाल भेजेंगे.राज्य के परिवहन मंत्री भूपेंद्र सिंह ने संवाददाताओं से कहा कि बस ऑपरेटरों से बातचीत हो गई है.समस्या का समाधान कर दिया जाएगा.भाजपा मंगलवार को भोपाल के जम्बूरी मैदान में होने वाले कार्यकर्ता महाकुंभ को विश्व का सबसे बड़ा राजनीतिक आयोजन होने का दावा कर रही है. सवाल यह उठ रहा है कि अगर बसें नहीं मिलीं तो 10 लाख कार्यकर्ता भोपाल कैसे पहुंचेंगे.
 


(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement