CAA और NRC के खिलाफ प्रदर्शन और हिंसा के दौरान यूपी पुलिस का फायरिंग नहीं करने का दावा, लेकिन कानपुर में सामने आया Video

उत्तर प्रदेश पुलिस भले ही लगातार हिंसा के दौरान फ़ायरिंग की बात से इनकार कर रही है. लेकिन कानपुर का एक ऐसा वीडियो आया है कि जिसमें यूपी पुलिस फ़ायरिंग करती दिख रही है.

खास बातें

  • कानपुर में पुलिस की फायरिंग का Video
  • पुलिस का फायरिंग से इनकार
  • शनिवार को सामने आया Video
नई दिल्ली:

उत्तर प्रदेश पुलिस भले ही लगातार हिंसा के दौरान फ़ायरिंग की बात से इनकार कर रही है. लेकिन कानपुर का एक ऐसा वीडियो आया है कि जिसमें यूपी पुलिस फ़ायरिंग करती दिख रही है. ये शनिवार को हुई हिंसा की तस्वीरें हैं. आपको बता दें कि फायरिंग की यह तस्वीरें कानपुर यतीमखाना चौराहे का है. उत्तर प्रदेश में हुई हिंसा में अब तक 16 लोगों की मौत हुई है. जिसमें ज़्यादातर मौतें बुलेट इंजरी से हुई है. कानपुर में हुई हिंसा के पहले डीजीपी ओपी सिंह का दावा था कि पुलिस ने फायरिंग नहीं की है और कल शाम आईडी लॉ ऑर्डर प्रवीण कुमार ने भी यह कहा था कि जो भी गोलियां चली हैं. वह प्रदर्शनकारियों की ओर से चली हैं. 

57 पुलिसकर्मियों को गोलियां लगीं
CAA के खिलाफ यूपी में शनिवार को और हिंसा हुई इसके अलावा कानपुर-रामपुर में भीड़ ने आगजनी की और पुलिस के साथ उनकी झड़प हुई, फलस्वरूप एक व्यक्ति की मौत हो गई. उत्तर प्रदेश के कई जिलों में गुरुवार से हिंसा में अब तक कम से कम 16 लोग मारे जा चुके हैं. उत्तर प्रदेश पुलिस ने कहा कि हिंसा की वारदात में 260 से अधिक पुलिसकर्मी घायल हुए हैं जिनमें से 57 को गोलियां लगी हैं. एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि शनिवार को प्रदर्शनकारियों ने कानपुर में यतीमखाना पुलिस चौकी को आग के हवाले कर दिया. इस दौरान जबरदस्त पथराव भी हुआ जिसमें पुलिसकर्मियों समेत कई लोग घायल हो गए.  

पुलिस ने भीड़ को तितर बितर करने के लिए लाठीचार्ज किया और आंसू गैस के गोले दागे. रामपुर में संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच झड़प में एक व्यक्ति की जान चली गयी और पुलिसकर्मियों समेत कई लोग घायल हो गये. पुरानी दिल्ली और सीमापुरी के हिंसा प्रभावित क्षेत्रों में सुरक्षा कड़ी कर दी गयी थी. 
 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com