नागपुर में बोले नितिन गडकरी, सरकार जहां लगाती है हाथ, वहां हो जाता है सत्यानाश

केंद्रीय सड़क और परिवहन मंत्री नितिन गडकरी के एक बयान से सरकार के कामकाज के तरीके पर सवाल उठ गया है.

नई दिल्ली:

केंद्रीय सड़क और परिवहन मंत्री नितिन गडकरी के एक बयान से सरकार के कामकाज के तरीके पर सवाल उठ गया है. नागपुर में मदर डेयरी के एक कार्यक्रम में गडकरी ने कहा कि मैं किसी प्रोजेक्ट में सरकार की मदद नहीं लेता. सरकार जहां भी हाथ लगाती है, वहां सत्यानाश हो जाता है. गडकरी ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा, 'एक संत ने कहा कि आप अपने सामाजिक आर्थिक जीवन को खुद बनाते हैं. तब से मैंने सरकार पर और भगवान पर भरोसा रखना बंद कर दिया. ना मैं सरकार से मदद मांगता हूं, ना जाता हूं. मदर डेयरी का अपवाद छोड़कर मेरा अनुभव है कि जहां सरकार हाथ लगाती है वहां सत्यानाश हो जाता है. कुछ अच्छा काम चल रहा है उसके लिए बधाई.' 

केंद्रीय मंत्री गडकरी ने अधिकारियों से कहा- समस्याओं का समाधान करो वरना लोगों से ‘धुलाई' करने के लिए कह दूंगा

यह कोई पहला मौका नहीं है जब नितिन गडकरी के बयान से बीजेपी के सामने मुश्किलें खड़ी हुई हों. वह इससे पहले भी पार्टी के साथ-साथ सरकार की नीतियों पर खुलकर बोलते रहे हैं. लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान नितिन गडकरी ने सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक पर हो रही बयानबाजी पर कहा था कि न तो भारतीय सेना की कार्रवाई को आम चुनावों से जोड़कर नहीं देखा जाना चाहिए और न ही इसका क्रेडिट किसी को लेना चाहिए. उनके इस बयान के बाद चुनाव प्रचार में बीजेपी को किरकिरी का सामना करना पड़ा था. 

मोटर वाहन बिल: अब और महंगा पड़ेगा ट्रैफिक रूल्स का उल्लंघन, बढ़ाया गया जुर्माना, जानें- और क्या हैं प्रावधान

नितिन गडकरी मोदी कैबिनेट के काबिल मंत्रियों में गिने जाते रहे हैं. हाल ही में उन्होंने एक कार्यक्रम के दौरान सरकारी अधिकारियों से जुड़ा एक बयान दिया था जिस पर राजनीति गरमा गई थी. केंद्रीय मंत्री ने अपने अधिकारियों को समय पर काम करने हिदायत देते हुए कहा था कि अगर आठ दिनों में यह काम पूरा नहीं किया तो वह लोगों से कहेंगे कि कानून व्यवस्था हाथ में लेकर अधिकारियों की धुलाई कर दें.   

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com