NDTV Khabar

कैबिनेट फेरबदल : आखिर राधामोहन सिंह कैसे बच गए और राजीव प्रताप रूडी को क्यों जाना पड़ा?

भाजपा नेता मानते हैं कि रूडी का प्रदर्शन बहुत अच्छा नहीं, तो बहुत खराब भी नहीं माना नहीं जा सकता. जबकि कृषि मंत्री राधामोहन सिंह का अब तक का प्रदर्शन निराशाजनक रहा है.

693 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
कैबिनेट फेरबदल : आखिर राधामोहन सिंह कैसे बच गए और राजीव प्रताप रूडी को क्यों जाना पड़ा?

राजीव प्रताप रूडी (फाइल फोटो)

पटना: केंद्रीय मंत्रिमंडल में रविवार को हुए फेरबदल के बाद हर व्यक्ति की जिज्ञासा इस सच का कारण जानने में है कि आखिर कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह कैसे बच गए और राजीव प्रताप रूडी को क्यों बाहर किया गया. कहा जा रहा है कि खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने सभी मंत्रियों के कामकाज की समीक्षा की. भाजपा नेता मानते हैं कि रूडी का प्रदर्शन बहुत अच्छा नहीं, तो बहुत खराब भी नहीं माना नहीं जा सकता. जबकि कृषि मंत्री राधामोहन सिंह का अब तक का प्रदर्शन निराशाजनक रहा है. सवाल हैं कि आखिर क्या कारण हैं कि पटना पहुंचे रूडी को उसी विमान से वापस दिल्ली बुलाकर इस्तीफा देने के लिए कहा गया. वहीं राधामोहन कृषि भवन में आराम से बैठे हैं.

यह भी पढ़ें: मंत्री पद से इस्तीफा देने वाले राजीव प्रताप रूडी बोले, बॉस हमेशा सही होता है...

सूत्रों के अनुसार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आदत है कि वह कुछ भी नहीं भूलते. इस साल 5 जनवरी को जब वह प्रकाश उत्सव में भाग लेने के लिए पटना जा रहे थे, तब बिहार से कई केंद्रीय मंत्रियों को उनके साथ जाना था. इसमें रूडी भी थे, लेकिन दिल्ली एयरपोर्ट पर रूडी समय पर नहीं पहुंचे. पीएम मोदी को शायद अहमदाबाद एयरपोर्ट का वो दिन याद आ गया, जब एक बैठक के लिए रूडी 45 मिनट देरी से पहुंचे थे और तब गुजरात के मुख्यमंत्री रहे नरेंद्र मोदी को बैठक के लिए वापस आना पड़ा. लेकिन उस बैठक में रूडी के नकारात्मक रुख को देखते हुए उन्होंने ये भी कह डाला कि ये बैठक काम करने के लिए बुलाई गई है, न कि काम न करने के कारण गिनाने के लिए.

VIDEO: राजीव प्रताप रूडी ने कहा, पार्टी का हर फैसला मंजूर
भाजपा नेताओं के अनुसार प्रधानमंत्री को शायद रूडी के प्रदर्शन को देखते हुए उनका व्यवहार याद आ गया. वहीं राधामोहन सिंह के बारे में कहा जाता है कि भले उनके कामकाज से कोई संतुष्ट ना हो, लेकिन चाहें पार्टी के कोई नेता हों या आरएसएस वह सबको मिलाकर चलते हैं. हालांकि रूडी का कहना है कि उन्हें उम्मीद हैं कि आने वाले दिनों में पार्टी में उन्हें निश्चित रूप से कोई जिम्मेदारी दी जाएगी, लेकिन यह तय है कि केंद्रीय मंत्रिमंडल में उनकी वापसी अब मुश्किल है.

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement