माता सीता को टेस्ट ट्यूब बेबी कहना आस्था का मजाक: कांग्रेस 

कांग्रेस पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट किया कि आदरणीय भाजपाइयों, सीता मां को तो अपनी राजनीति का कोपभाजन मत बनाइये.

माता सीता को टेस्ट ट्यूब बेबी कहना आस्था का मजाक: कांग्रेस 

दिनेश शर्मा की फाइल फोटो

नई दिल्ली:

उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा द्वारा ‘माता सीता को टेस्ट ट्यूब बेबी’ से पैदा होने की बात पर कांग्रेस ने तीखी प्रतिक्रिया दी है. कांग्रेस ने कहा कि इस तरह के बयान देशवासियों के आस्था का मजाक बनाने जैसे है. कांग्रेस पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट किया कि आदरणीय भाजपाइयों, सीता मां को तो अपनी राजनीति का कोपभाजन मत बनाइये. माफ़ कीजिए. पहले तो संसद में सीता मां के अस्तित्व को नकार रहे हैं. अब झूठी रामायण पढ़ा रहे हैं. माता सीता को टेस्ट ट्यूब बेबी कह देश की श्रद्धा का मज़ाक़ उड़ा रहे हैं.

यह भी पढ़ें: यूपी के उपमुख्यमंत्री का विवादित बयान- महाभारत काल में ही शुरू हो गई थी पत्रकारिता

गौरतलब है कि यूपी के उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने गुरुवार को कहा था कि रामायण के दौरान माता सीता का जन्म टेस्ट ट्यूब बेबी प्रोजेक्ट का एक सबूत था. उनके इस बयान से असहज हुई भाजपा ने उनसे अपने भाषणों में संयम बरतने के लिए कहा है.गौरतलब है कि इससे पहले दिनेश शर्मा ने महाभारत को लेकर भी विवादित बयान दिया था.

यह भी पढ़ें: डिप्टी CM दिनेश शर्मा का दावा- रामायण काल में भी था टेस्ट ट्यूब बेबी का कॉन्सेप्ट

उन्होंने महाभारत काल से पत्रकारिता की शुरुआत की बात कहकर नया विवाद खड़ा कर दिया है. उन्होंने कहा कि पौराणिक पात्रों ‘संजय’ और ‘नारद’ को वर्तमान समय में सीधे प्रसारण और गूगल से जोड़कर देखा जा सकता है. दिनेश शर्मा ने यह बात हिंदी पत्रकारिता दिवस पर आयोजित एक समारोह में यह बात कही. 

Newsbeep

VIDEO: यूपी के उप-मुख्यमंत्री का विवादित बयान.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


दिनेश शर्मा से पहले त्रिपुरा के सीएम बिप्लब देब ने महाभारत काल से ही इंटरनेट का इस्तेमाल होने की बात कहकर खासी सुर्खियां बंटोरी थी. इसके अलावा भी उन्होंने कई ऐसे बयान दिए थे जिसपर बाद में विपक्ष ने ऐसे बयानों के लिए उनकी निंदा भी की थी. (इनपुट भाषा से)