NDTV Khabar

कैप्टन अमरिंदर ने नवजोत सिंह सिद्धू के इस्तीफे को नहीं दी ज्यादा तवज्जो, अनुशासन की भी दी नसीहत

नवजोत सिंह सिद्धू के कांग्रेस में शामिल होते ही उनका कैप्टन अमरिंदर के साथ 36 का आंकड़ा हो गया था. कैप्टन उनको पंजाब की राजनीति से दूर रखना चाहते थे यहां तक कि वह उनको मंत्रिमंडल में भी नहीं रखना चाहते थे लेकिन सिद्धू के ऊपर उस समय कांग्रेस आलाकमान मेहरबान था और उनकी हर बात मानी जा रही थी. यहां तक कि सिद्धू कैप्टन अमरिंदर सिंह के विपरीत पाकिस्तान में इमरान के शपथग्रहण समारोह में भी हिस्सा लेने पहुंच गए.  

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कैप्टन अमरिंदर ने नवजोत सिंह सिद्धू के इस्तीफे को नहीं दी ज्यादा तवज्जो, अनुशासन की भी दी नसीहत
नई दिल्ली:

नाराज होकर पंजाब मंत्रिमंडल से इस्तीफा देने वाले नवजोत सिंह सिद्धू को सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी जवाब दे दिया है. मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए कैप्टन अमरिंदर ने कहा, 'थोड़ा अनुशासन भी होना चाहिए'. कैप्टन ने कहा कि उनके मंत्रिमंडल में 17 लोग थे जिसमें उन्होंने सिद्धू सहित 13 के विभाग बदले थे.  पंजाब के सीएम ने कहा कि सिद्धू का इस्तीफा मिल गया है और जब दिल्ली से पंजाब जाएंगे तो सिद्धू का इस्तीफा देखेंगे.  उन्होंने कहा, 'पहले सिद्दू का इस्तीफा पढ़ने दीजिए फिर कोई प्रतिक्रिया दूंगा.' इसके आगे उन्होंने जोड़ा, थोड़ा अनुशासन भी चाहिए.' आपको बता दें कि रविवार को खबर आई थी कि नवजोत सिंह सिद्धू ने पंजाब सरकार के मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है. लेकिन उनका इस्तीफा राहुल  गांधी को भेजा गया था जिस पर 10 जून की तारीख पड़ी थी. इसके बाद उनके इस्तीफे पर सवाल उठने लगे. वहीं पंजाब मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से भी बयान जारी हुआ कि अभी तक सिद्धू का इस्तीफा नहीं मिला है. इसके बाद सिद्दू की ओर से भी बयान जारी किया गया कि वह पंजाब के सीएम को अपना इस्तीफा भेज रहे हैं और सोमवार को फिर उन्होंने ट्विटर पर जानकारी दी कि उनका इस्तीफा पंजाब मुख्यमंत्री कार्यालय को मिल गया है. 

नवजोत सिंह के पंजाब कैबिनेट से इस्तीफा देने के बाद शत्रुघ्न सिन्हा ने की तारीफ लेकिन निर्णय से हैं अचंभित

नवजोत सिंह सिद्धू के कांग्रेस में शामिल होते ही उनका कैप्टन अमरिंदर  के साथ 36 का आंकड़ा हो गया था. कैप्टन उनको पंजाब की राजनीति से दूर रखना चाहते थे यहां तक कि वह उनको मंत्रिमंडल में भी नहीं रखना चाहते थे लेकिन सिद्धू के ऊपर उस समय कांग्रेस आलाकमान मेहरबान था और उनकी हर बात मानी जा रही थी. यहां तक कि सिद्धू कैप्टन अमरिंदर सिंह के विपरीत पाकिस्तान में इमरान के शपथग्रहण समारोह में भी हिस्सा लेने पहुंच गए.  


नवजोत सिंह सिद्धू ने पंजाब मंत्रिमंडल से दिया इस्तीफा, राहुल गांधी को लिखी चिट्ठी

लेकिन लोकसभा चुनाव के बाद हालात बदल गए और कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मंत्रिमंडल में फेरबदल कर सिद्धू से उनका विभाग छीन लिया. यहां तक पंजाब एसीबी की ओर से एक जांच भी शुरू कर दी गई. विभाग छीनने से नाराज सिद्धू ने मंत्रालय में जाकर कामकाज भी नहीं संभाला. इस पर उनके खिलाफ बीजेपी नेता तरूण चुग ने राज्यपाल को चिट्ठी लिखकर शिकायत की थी कि उन्होंने मंत्री पद की शपथ तो ले ली है लेकिन अभी तक कार्यभार नहीं संभाला है फिर भी वह मंत्री के रूप में मिलने वाली सैलरी और भत्तों का पूरा मजा ले रहे हैं. चिट्ठी में लिखा गया था कि सिद्धू और सीएम के बीच विवाद ने संवैधानिक संकट पैदा कर दिया है.


पंजाब मंत्रिमंडल से नवजोत सिंह सिद्धू ने दिया इस्तीफा​

टिप्पणियां



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement