पाकिस्तान में गुरु नानक के महल के तोड़े जाने को लेकर कैंप्टन अमरिंदर सिंह ने जताया दुख, पीएम मोदी से की यह अपील...

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने ट्वीट कर कहा कि मैं पाकिस्तान में गुरु नानक महल पर हुए हमले की निंदा करता हूं. मैं पीएम नरेंद्र मोदी से अनुरोध करता हूं कि वह पाकिस्तान सरकार से इस पूरे मामले की सख्ती से जांच कराएं.

पाकिस्तान में गुरु नानक के महल के तोड़े जाने को लेकर कैंप्टन अमरिंदर सिंह ने जताया दुख, पीएम मोदी से की यह अपील...

अमरिंदर सिंह ने पाकिस्तान में गुरु नानक देव को लेकर पीएम मोदी से की अपील

नई दिल्ली:

पाकिस्तान में गुरु नानक महल के कुछ हिस्सों को तोड़े जाने का पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कड़े शब्दों में निंदा की है.उन्होंने इस पूरे मामले पर दुख जाते हुए एक ट्वीट भी किया है. उन्होंने ट्वीट कर कहा कि मैं पाकिस्तान में गुरु नानक महल पर हुए हमले की निंदा करता हूं. मैं पीएम नरेंद्र मोदी से अनुरोध करता हूं कि वह पाकिस्तान सरकार से इस पूरे मामले की सख्ती से जांच कराएं. अगर हमें अनुमति दी जाए तो पंजाब सरकार गुरु नानक महल की मरम्मत का काम कराना चाहेगी. अमरिंदर सिंह ने इस पूरे मामले को लेकर पीएम को पत्र भी लिखा है. जिसमें उन्होंने कहा है कि यह घटना उस वक्त हुई जब भारत समेत पूरे विश्व में गुरु नानक देव जी की 550वां जंयती मनाने की तैयारी कर रहा है. 

गौरतलब है कि इस पूरे मामले में पीएम मोदी के हस्तक्षेप की मांग करने वाले कैंप्टन अमरिंदर सिंह अकेले नेता नहीं हैं. इससे पहले एनडीए सरकार में मंत्री रही हरसिमरत कौर ने भी इस पूरे मामले पर पीएम मोदी को हस्तक्षेप करने कहा था. उन्होंने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपील की थी कि वह पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में गुरु नानकमहल को आंशिक तौर पर तोड़े जाने के मुद्दे को पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के सामने कड़ाई से उठाएं. बता दें कि कुछ उपद्रवियों ने इस प्राचीन महल को आंशिक तौर पर तोड़ दिया था और इस महल की कीमती खिड़कियों और दरवाजों को बेच डाला था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

नगर कीर्तनों और सेवा के साथ धूमधाम से मना गुरु नानक देव का जन्मदिवस

हरसिमरत ने अपनी अपील में कहा था कि इस घटना से सिख समुदाय क्षुब्ध है और इस करतूत की निंदा में वह अपने समुदाय के साथ हैं. उन्होंने ट्वीट किया था कि कुछ उपद्रवियों द्वारा औक़ाफ़ अधिकारियों के साथ मिलकर पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में ऐतिहासिक गुरु नानक महल को तोड़े जाने की निंदा में मैं सिख समुदाय के साथ हूं. चूंकि सिख इस पर काफी क्षुब्ध हैं, इसलिए मैं नरेंद्र मोदी जी से अपील करती हूं कि वह इस मुद्दे को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के समक्ष उठाएं.''चार मंजिले गुरु नानक महल में सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव और कई हिंदू शासकों की तस्वीरें थीं।