BJP नेताओं के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करने पर राजभर के खिलाफ केस दर्ज, सुभासपा ने कहा- आवाज दबाना चाहती है सरकार

भाजपा के प्रति आपत्तिजनक टिप्पणी करने पर उत्तर प्रदेश के पूर्व कैबिनेट मंत्री और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर के खिलाफ मंगलवार को मुकदमा दर्ज किया गया.

BJP नेताओं के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करने पर राजभर के खिलाफ केस दर्ज, सुभासपा ने कहा- आवाज दबाना चाहती है सरकार

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर (फाइल फोटो)

खास बातें

  • सुभासपा के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर के खिलाफ मंगलवार को मुकदमा दर्ज
  • भाजपा के प्रति आपत्तिजनक टिप्पणी करने पर हुई कार्रवाई
  • राजभर के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कराने को लेकर तीखी प्रतिक्रिया
नई दिल्ली:

भाजपा के प्रति आपत्तिजनक टिप्पणी करने पर उत्तर प्रदेश के पूर्व कैबिनेट मंत्री और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर के खिलाफ मंगलवार को मुकदमा दर्ज किया गया. पुलिस सूत्रों ने यहां बताया कि राजभर के खिलाफ कोपागंज थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है. उन पर मऊ जनपद में घोसी विधानसभा क्षेत्र के फतेहपुर ताल नरजा गांव में रविवार को आयोजित कार्यकर्ता सम्मेलन में भाजपा नेताओं तथा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करने का आरोप है. इस बीच बलिया में सुभासपा ने दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कराने को लेकर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए आरोप लगाया है कि भाजपा सरकार राजभर की आवाज दबाना चाहती है.

दिल्ली कांग्रेस का अध्यक्ष चुनने के लिए जल्दबाजी में नहीं हैं सोनिया गांधी, वरिष्ठ नेताओं की राय पर ही फैसला

प्रदेश की मौजूदा सरकार में पिछड़ा वर्ग कल्याण मंत्री रह चुके राजभर ने कथित तौर पर कहा था, ''जब मैं भाजपा के नेताओं को देखता हूं तो मेरा खून खौल उठता है और मेरा मन करता है कि उनका सिर कलम कर दूं. जिस तरह से महाराजा सुहेलदेव दुश्मनों का सिर कलम करते थे.'' सुभासपा के राष्ट्रीय महासचिव अरुण राजभर ने मुकदमा दर्ज करने पर मंगलवार को तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए आरोप लगाया है कि भाजपा सरकार सुभासपा अध्यक्ष राजभर की आवाज दबाना चाहती है. 

प्रियंका गांधी ने रायबरेली में मोदी सरकार पर साधा निशाना, बोलीं- एक नया 'कम्पनीराज' लाना चाहती है BJP

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

उन्होंने इस कार्रवाई को भाजपा सरकार की हताशा का परिणाम बताया है तथा कहा है कि सुभासपा इस तरह की कार्रवाई से डरने वाली नहीं है. उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा सरकार विपक्षी दल के नेताओं का दमन कर रही है. सुभासपा ने 2017 का विधानसभा चुनाव भाजपा के साथ गठबंधन करके लड़ा था. उसने चार सीटों पर जीत हासिल की थी. इसके बाद उन्हें योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री बनाया गया था. लेकिन आरक्षण में आरक्षण लागू करने की उग्र मांग करने और मुख्यमंत्री की कार्यप्रणाली की खुली आलोचना करने पर उन्हें हाल में मंत्रिमण्डल से बर्खास्त कर दिया गया था.

Video: अनुच्छेद 370 को लेकर बीजेपी चलाएगी देश भर में अभियान