NDTV Khabar

वित्त मंत्रालय का दावा, अगले एक सप्ताह में दूर होगी कैश की किल्लत

उन्होंने कहा कि इस कैश संकट की तीन मुख्य वजहें- कृषि क्षेत्र में खरीद-फरोख्त में बढ़ोतरी, शादी का सीज़न और कंपनियों द्वारा वित्तीय साल का क्लोज़र है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
वित्त मंत्रालय का दावा, अगले एक सप्ताह में दूर होगी कैश की किल्लत

एटीएम की फाइल फोटो

खास बातें

  1. कई राज्यों में हो रही है कैश की दिक्कत
  2. दिल्ली में भी कई जगह सामने आई कैश की दिक्कत
  3. वित्त मंत्री ने कहा पर्याप्त मात्रा में है कैश, घबराने की बात नहीं है
नई दिल्ली: देश के कई छोटे-बड़े शहरों में ATM से कैश गायब होने की खबर से मंगलवार को भी हड़कंप मचा रहा. कैश की कमी की वजह से बड़ी संख्या में लोग ATM पहुंचने लगे लेकिन उन्हें कैश नहीं मिला. हालांकि वित्त मंत्री ने साफ़ किया कि कैश की कोई कमी नहीं है. कैश की किल्लत की खबरों के बीच वित्त मंत्रालय ने अगले एक हफ्ते में कैश से जुड़ी दिक्कत को दूर करने का दावा किया है. गौरतलब है कि मंगलवार को भी बनारस, भोपाल, पटना, हैदराबाद- हर जगह एटीएम ख़ाली दिखे और लोगों की भीड़ दिखी. इन शहरों के साथ-साथ यूपी, बिहार, मध्य प्रदेश, गुजरात, आंध्रप्रदेश, तेलंगाना और कर्नाटक से भी कैश की किल्लत की खबर आई. इन सब के बीच देश की राजधानी से भी कैश की किल्लत की खबर आ रही है.

यह भी पढ़ें: संसद में 15 मिनट भाषण देने को मिल जाए, पीएम मोदी खड़े नहीं हो पाएंगे : राहुल गांधी

दिल्ली के कई इलाकों में लोगों को कैश की किल्लत से दो-चार होना पड़ा. देश के अलग-अलग राज्यों में लगातार कैश की दिक्कत की खबरों के बीच वित्तमंत्री अरुण जेटली ने ट्वीट किया. उन्होंने कहा कि देश में कैश के हालात का जायज़ा लिया. कुल मिलाकर पर्याप्त से ज़्यादा कैश बाज़ार में है और बैंकों के पास भी है. कुछ इलाक़ों में अचानक और बढ़ी हुई मांग से पैदा हुई क़िल्लत से जल्द ही निपटा जा रहा है. वहीं बैंकिग सचिव राजीव कुमार ने एनडीटीवी से कहा कि 85 फ़ीसदी एटीएम मशीनों में कैश है. 10 से 12 फीसदी मशीनें हमेशा रखरखाव में रहती हैं. लेकिन फिर संकट क्यों है? इसपर राजीव कुमार का कहना है कि मार्च अप्रैल में कैश की मांग ज़्यादा होती है. इस वजह से भी यह दिक्कत आ रही है.

यह भी पढ़ें: देश के कई शहरों के ATM में नहीं है कैश, जेटली बोले- क़िल्लत से निबटा जा रहा है

उन्होंने कहा कि इस कैश संकट की तीन मुख्य वजहें- कृषि क्षेत्र में खरीद-फरोख्त में बढ़ोतरी, शादी का सीज़न और कंपनियों द्वारा वित्तीय साल का क्लोज़र है. हालांकि उन्होंने ये भी कहा कि आंध प्रदेश और तंलगाना में कैश का विथड्रायल औसत से काफी ज़्यादा हुआ है जिसकी जांच होगी. शाम होते-होते बैंकिग सचिव राजीव कुमार ने पीएमओ को ब्रीफ किया. लेकिन इस सफाई के बावजूद सरकार को विपक्ष की आलोचना भी झेलनी पड़ी.

टिप्पणियां
VIDEO: जानिए कैसे एटीएम से गायब हो गए पैसे.


अधिकारियों के बाद अब बड़े सरकारी बैंक भी सफाई देने में लग गए हैं. एसबीआई के चेयरमैन रजनीश कुमार ने कहा कि आरबीआई और सभी बैंक मिलकर इस संकट को दूर करने के लिए पहल शुरू कर चुके हैं. 
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement