कैश फॉर वोट : गिरफ्तार टीडीपी विधायक रेवंत रेड्डी के घर पर एसीबी की छापेमारी

कैश फॉर वोट : गिरफ्तार टीडीपी विधायक रेवंत रेड्डी के घर पर एसीबी की छापेमारी

नई दिल्ली:

तेलंगाना और आंध्र प्रदेश में कैश फॉर वोट मामले का जाल फैलता जा रहा है। आंध्र प्रदेश के एंटी करप्शन ब्यूरो ने टीडीपी विधायक रेवंत रेड्डी के अलावा दो अन्य लोगों के घर में छापेमारी की है। इस मामले में एसीबी ने रेवंत रेड्डी को पहले ही गिरफ़्तार कर लिया है।

रेवंत रेड्डी पर विधान परिषद के चुनाव में मनोनीत विधायक एल्विस स्टीफेंसन को 50 लाख रुपये घूस देने का आरोप है। सोमवार को इस मामले में आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू का नाम सामने आया था। उन पर आरोप था कि उन्हें इस पूरे मामले की जानकारी थी। जिस कथित ऑडियो टेप के जरिये ये बात सामने आ रही थी उसे बाद में आंध्र प्रदेश सरकार ने गलत बताया था।

उधर, वोट के लिए नोट मामले में आरोपों का सामने कर रहे आंध्र के मुख्यमंत्री की कथित आडियो टेप के मामले में नायडू की पार्टी टीडीपी ने तेलंगाना सरकार पर पलटवार किया है।

टीडीपी ने इस ऑडियो टेप को बनावटी बताते हुए तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव पर मानहानि और फोन टैपिंग के कई मामले विजयवाड़ा, वाईज़ैग समेत कई शहरों में दर्ज कराए हैं। वहीं तेलंगाना राष्ट्र समिति का आरोप है कि कैश फॉर वोट के इस पूरे मामले के मास्टरमाइंड चंद्रबाबू नायडू हैं।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

आरोप है कि इस ऑडियो टेप में चंद्रबाबू नायडू और मनोनीत विधायक की बातचीत है, जिसमें कथित तौर पर चंद्रबाबू कह रहे हैं कि अगर वह तेलंगाना विधान परिषद के चुनाव में टीडीपी उम्मीदवार के लिए वोट करते हैं तो उन्हें हर तरह की सुविधा दी जाएगी हालांकि चंद्रबाबू नायडू का कहना है कि ऑडियो टेप के साथ छेड़छाड़ हुई है।

हाल ही में तेलंगाना के एक टीडीपी विधायक रेवंत रेड्डी को एंटी करप्शन ब्यूरो ने एक दूसरे विधायक को रिश्वत की पेशकश के आरोप में गिरफ़्तार किया था। विधान परिषद चुनाव में टीडीपी उम्मीदवार को वोट देने के लिए रेवंत रेड्डी एक मनोनीत विधायक को रिश्वत की पेशकश कर रहे थे।