यह ख़बर 31 अक्टूबर, 2011 को प्रकाशित हुई थी

नोट फॉर वोट : दिल्ली पुलिस को नोटिस

नोट फॉर वोट : दिल्ली पुलिस को नोटिस

खास बातें

  • आरोपियों ने अपनी जमानत याचिका खारिज करने के निचली अदालत के निर्णय को उच्च न्यायालय में चुनौती दी है।
नई दिल्ली:

दिल्ली उच्च न्यायालय ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी के पूर्व राजनीतिक सलाहकार सुधींद्र कुलकर्णी, पूर्व भाजपा सांसद फगन सिंह कुलस्ते और महाबीर सिंह भगोरा की जमानत याचिकाओं पर सोमवार को दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी किया। तीनों 2008 में विश्वास मत के दौरान हुए वोट के लिए नोट मामले में आरोपी हैं। न्यायमूर्ति एमएल मेहता ने दिल्ली पुलिस से 14 नवम्बर तक जवाब मांगा है। कुलकर्णी 27 सितम्बर से जेल में हैं। उन्होंने अपनी जमानत याचिका खारिज करने के निचली अदालत के निर्णय को उच्च न्यायालय में चुनौती दी है। अधिवक्ता महिपाल अहलूवालिया के जरिए दायर याचिका में कुलकर्णी ने कहा है कि लोकसभा में 22 जुलाई, 2008 के विश्वास मत के दौरान संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार को बचाने के लिए जारी खरीद-फरोख्त का खुलासा करने के लिए वह भाजपा सांसदों के साथ स्टिंग ऑपरेशन में शामिल थे, जिसे एक निजी टीवी चैनल ने किया था। भाजपा कार्यकर्ता सुहैल हिंदुस्तानी की जमानत याचिका पर भी न्यायालय ने दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी किया था। हिंदुस्तानी भी वोट के लिए नोट मामले में जेल में है।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com