NDTV Khabar

पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम की बढ़ेंगी मुश्किलें, INX मीडिया मामले में दर्ज होगा मुकदमा: सूत्र

आईएनएक्स मीडिया (INX Media) मामले में पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम (P Chidambaram) के खिलाफ मुकदमा चलाने के लिए CBI को सरकार से अनुमति मिल गई है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम की बढ़ेंगी मुश्किलें, INX मीडिया मामले में दर्ज होगा मुकदमा: सूत्र

पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम. (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम की बढ़ेंगी मुश्किलें
  2. INX मीडिया मामले में दर्ज होगा मुकदमा
  3. सीबीआई को सरकार से मिली इजाजत: सूत्र
नई दिल्ली:

आईएनएक्स मीडिया (INX Media) मामले में पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम (P Chidambaram) के खिलाफ मुकदमा चलाने के लिए CBI को सरकार से अनुमति मिल गई है. सूत्रों ने बताया कि पूर्व वित्त मंत्री के खिलाफ जल्द ही चार्जशीट दायर की जाएगी. सीबीआई ने 21 जनवरी को इस संबंध में एक अनुरोध भेजा था. सूत्रों ने कहा कि सीबीआई को अगले कुछ दिनों में चिदंबरम के खिलाफ चार्जशीट दाखिल करने की उम्मीद है. बता दें कि बीते 8 फरवरी को आईएनएक्स मीडिया से जुड़े मनी लांड्रिंग के मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम से लंबी पूछताछ की थी. चिदंबरम पर आरोप है कि नियमों को ताक पर रखकर आईएनएक्स मीडिया को विदेशी निवेश की मंजूरी दी गई और इसके बदले करोड़ों रुपये की घूस ली गई. दरअसल यह मामला 2007 का है, जब पी चिदंबरम वित्त मंत्री थे. आरोप है कि कार्ति चिदंबरम ने अपने पिता के जरिए आईएनएक्स मीडिया को विदेशी निवेश प्रमोशन बोर्ड से विदेशी निवेश की मंजूरी दिलाई. आईएनएक्स मीडिया को 305 करोड़ रुपये का विदेशी निवेश मिला.

पी. चिदंबरम का आरोप, वित्तीय दिक्कतों से जूझ रही मोदी सरकार RBI का पैसा हड़पना चाहती है


कार्ति ने ही आईएनएक्स मीडिया की प्रमोटर इंद्राणी मुखर्जी और पीटर मुखर्जी को पी चिदंबरम से मिलवाया था. इसके बदले कार्ति चिदंबरम ने घूस के तौर पर करोड़ो रुपये लिए थे. जबकि विदेशी निवेश के लिए कैबिनेट की आर्थिक मामलों की सलाहकार समिति की इजाज़त लेना जरूरी है.

इस मामले में सीबीआई ने 2017 में केस दर्ज किया था और कार्ति चिदम्बरम को गिरफ्तार भी किया था. हालांकि बाद में उन्हें ज़मानत मिल गई. फिर ईडी ने मनी लॉड्रिंग का केस दर्ज कर जांच शुरू की और कार्ति चिदम्बरम की करीब 54 करोड़ की संपत्तियां अटैच कर लीं.

टिप्पणियां

VIDEO : ED के सामने पेश हुए चिदंबरम

इस मामले में इंद्राणी मुखर्जी ,पीटर मुखर्जी और कार्ति के सीए भी आरोपी हैं. हालांकि इंद्राणी मुखर्जी कोर्ट के सामने सरकारी गवाह बनने की इच्छा ज़ाहिर कर चुकी हैं.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement