NDTV Khabar

सीबीआई ने नेट उत्तर पत्रिका घोटाले में सीबीएसई के निदेशक के खिलाफ दर्ज की रिपोर्ट

इस साल राष्ट्रीय योग्यता परीक्षा (नेट) में बैठने वाले 7.94 लाख छात्रों का भविष्य अधर में लटका नजर आ रहा है क्योंकि उत्तर पत्रिकाओं को स्कैन करने का ठेका पाने वाली निजी फर्म ने अब तक अपना काम पूरा नहीं किया है. सीबीआई ने उसके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सीबीआई ने नेट उत्तर पत्रिका घोटाले में सीबीएसई के निदेशक के खिलाफ दर्ज की रिपोर्ट

सीबीआई को कुछ ऐसे दस्तावेज भी मिले हैं जिनसे साबित होता है कि घोटाला हुआ है

खास बातें

  1. उत्तर सीट स्कैनिंग का ठेका दिया था करोल बाग की वीनस डिजिटल सर्विस को
  2. 22 जनवरी को देश के 18 शहरों के 412 केंद्रों पर की गई थी परिक्षा आयोजित
  3. 25 हजार प्रति केंद्र के हिसाब से करीब करोड़ रुपये का था पूरा ठेका
नई दिल्ली: इस साल राष्ट्रीय योग्यता परीक्षा (नेट) में बैठने वाले 7.94 लाख छात्रों का भविष्य अधर में लटका नजर आ रहा है क्योंकि उत्तर पत्रिकाओं को स्कैन करने का ठेका पाने वाली निजी फर्म ने अब तक अपना काम पूरा नहीं किया है. सीबीआई ने उसके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है.

जानकारी के अनुसार, रिपोर्ट में सीबीआई ने सीबीएसई के निदेशक (आईटी) अंतरिक्ष जोहरी, वीनस डिजिटल सर्विस के प्रतिनिधि कपिल सूरमा और वीनस डिजिटल सर्विस के अलावा सीबीएसई के कुछ अन्य अज्ञात अधिकारियों को नामजद किया है. वीनस डिजिटल को स्कैनिंग के काम के लिए एक करोड़ रुपेय का भुगतान किया गया था. 

टिप्पणियां
सीबीएसई ने कालेज एवं विश्वविद्यालयों में भर्ती तथा जेआरएफ के लिए योग्यता परीक्षा नेट का आयेाजन 22 जनवरी को देशभर के 18 शहरों के 412 केन्द्रों पर किया था. प्रत्येक केंद्र की उत्तर पत्रिका की स्कैनिंग के लिए कंपनी को 25000 रुपये प्रति केंद्र के हिसाब से ठेका दिया गया. खासबात यह है कि यह ठेका बिना किसी टेंडर आदि के किए गए थे. जानकारों का कहना है कि सीबीआई अधिकारियों की एक टीम ने सीबीएसई मुख्यालय का दौरा करके कुछ दस्तावेज भी प्राप्त किए हैं.

(इनपुट भाषा से भी) 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement