NDTV Khabar

CBI ने एंटीगुआ के अधिकारियों को पत्र लिखकर मेहुल चोकसी के ठिकाने की जानकारी मांगी

सीबीआई ने एंटीगुआ के अधिकारियों को पत्र लिखकर भगोड़े हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी के ठिकाने के बारे में जानकारी मांगी है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
CBI ने एंटीगुआ के अधिकारियों को पत्र लिखकर मेहुल चोकसी के ठिकाने की जानकारी मांगी

भगोड़े हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: सीबीआई ने एंटीगुआ के अधिकारियों को पत्र लिखकर भगोड़े हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी के ठिकाने के बारे में जानकारी मांगी है. वह पंजाब नेशनल बैंक में दो अरब डॉलर से अधिक की धोखाधड़ी मामले में कथित तौर पर संलिप्त है. सरकार के सूत्रों ने बताया कि पता चला है कि चोकसी जुलाई में कैरेबियाई देश में चला गया और उसने स्थानीय पासपोर्ट हासिल कर लिया. इसके बाद यह कदम उठाया गया है.

यह भी पढ़ें : PNB स्कैम : एंटीगुआ पहुंचा भगोड़ा हीरा व्‍यापारी मेहुल चोकसी, स्थानीय पासपोर्ट भी मिला

सूत्रों ने बताया कि एंटीगुआ के अधिकारियों को भेजे गए पत्र में सीबीआई ने भगोड़े हीरा कारोबारी के खिलाफ इंटरपोल की तरफ से जारी नोटिस का हवाला दिया है और उसकी आवाजाही तथा वर्तमान स्थान का ब्योरा मांगा है. स्थानीय अखबार एंटीगुआ ऑब्जर्वर के मुताबिक चोकसी ने नवंबर 2017 में एंटीगुआ की नागरिकता हासिल कर ली थी और इस वर्ष 15 जनवरी को उसने निष्ठा की शपथ ली थी.

यह भी पढ़ें : एंटीगुआ में छिपा है PNB स्कैम का आरोपी मेहुल चोकसी, जानिए इस देश के बारें में 5 खास बातें

भारतीय संस्थानों की रिपोर्ट का हवाला देकर अखबार ने चोकसी के बारे में सिटीजनशिप बाई इन्वेस्टमेंट यूनिट ऑफ एंटीगुआ को प्रश्नावली भेजी थी. अखबार ने खबर दी कि उसे सूचित किया गया कि 'पूरी सावधानी बरतने' और 'प्रतिष्ठित एजेंसियों' से 'अंतरराष्ट्रीय जांच' कराने के बाद चोकसी के आवेदन को मंजूरी दी गई. इसमें अंतरराष्ट्रीय आपराधिक पुलिस संगठन और कैरीकॉम इंप्लीमेंटिंग एजेंसी फॉर क्राइम एंड सिक्योरिटी (आईएमपीएसीएस) द्वारा जांच भी शामिल है. 

VIDEO: NDTV EXCLUSIVE : नीरव मोदी का पैसा कहां गया ?


टिप्पणियां
सूत्रों ने बताया कि चोकसी के कृत्यों से पता चलता है कि उसने भागने की योजना पहले बना ली थी और उसे पता था कि पीएनबी के कर्मचारी गोकुलनाथ शेट्टी के सेवानिवृत्त होने के बाद घोटाले का पर्दाफाश होगा. शेट्टी उसे गारंटी पत्र के नवीकरण में मदद करता था. उन्होंने बताया कि वह जनवरी के पहले हफ्ते में देश से फरार हो गया और एंटीगुआ में निष्ठा की शपथ 15 जनवरी को ली. 

(इनपुट : भाषा)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement