सीबीएसई का फरमान, AIPMT परीक्षा में हल्के कपड़े और खुली चप्पल ही पहन कर आएं छात्र

सीबीएसई का फरमान, AIPMT परीक्षा में हल्के कपड़े और खुली चप्पल ही पहन कर आएं छात्र

प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली:

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने 25 जुलाई को फिर से आयोजित की जा रही इस साल की अखिल भारतीय प्री-मेडिकल परीक्षा (AIPMT) में शामिल होने जा रहे छात्रों से कहा है कि वे परीक्षा केंद्रों पर ऐसे हल्के कपड़े पहन कर आएं, जिसमें बड़े बटन न हों और सिर्फ खुली चप्पलें पहन कर आएं।

इसके साथ ही सीबीएसई ने छात्रों से कहा है कि वे परीक्षा केंद्रों पर अंगूठियां, ब्रेसलेट, कान में पहनी जाने वाली बाली, नाक में पहनी जाने वाली पिन, झुमके और घड़ियां पहन कर न आएं।

परीक्षा में शामिल होने के लिए सख्त ड्रेस कोड तय करते हुए सीबीएसई ने छात्रों से कहा है कि वे परीक्षा केंद्रों पर समय से काफी पहले पहुंच जाएं, ताकि अनिवार्य रूप से शारीरिक तलाशी ली जा सके।

सीबीएसई ने कहा, 'आधी बांह वाली कमीजें, टी-शर्ट, कुर्ता, पायजामे और सलवार जैसे हल्के कपड़े पहन कर आएं, जिनमें बड़े बटन, जड़ाउ पिन या कोई बैज न हों। खुली चप्पलें पहन कर आएं, जूते न पहनें।'

इसके साथ ही मोबाइल फोन, ब्लूटूथ, ईयरफोन, हेयर बैंड, बेल्ट, टोपी और स्कार्फ जैसे सामान लेकर जाने पर पाबंदी लगा दी गई है।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

सीबीएसई ने कहा है कि अगर छात्रों ने इन निर्देशों का पालन नहीं किया तो उन्हें परीक्षा में शामिल होने से रोका जा सकता है। सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर एआईपीएमटी की परीक्षा फिर से आयोजित की जा रही है। बीते तीन मई को हुई एआईपीएमटी की परीक्षा में बड़े पैमाने पर अनियमितता का आरोप लगने के बाद शीर्ष न्यायालय ने फिर से यह परीक्षा कराने का आदेश सीबीएसई को दिया था।

एआईपीएमटी, 2015 के लिए करीब 6.3 लाख उम्मीदवारों ने पंजीकरण कराया था। बोर्ड ने यह भी स्पष्ट कर दिया कि
'पहले से रजिस्टर्ड' छात्रों के लिए ही यह परीक्षा आयोजित की जा रही है।