NDTV Khabar

CBSE पेपर लीक : येचुरी ने कहा, पीएम मोदी 25 लाख बच्चों की परेशानी पर 'मन की बात' जरूर करें

सीबीएसई के लीक पर्चों पर सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी का सरकार पर हमला, दो साल तक क्यों नियुक्त नहीं किया CBSE चेयरमैन?

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
CBSE पेपर लीक : येचुरी ने कहा, पीएम मोदी 25 लाख बच्चों की परेशानी पर 'मन की बात' जरूर करें

सीपीएम के महासचिव सीताराम येचुरी ने सीबीएसई पेपर लीक मामले को लेकर सरकार पर हमला किया है.

खास बातें

  1. येचुरी ने कहा- पेपर लीक होना केंद्र सरकार की एक बड़ी असफलता
  2. सरकार नियमों को मनमाने तरीके से बदल रही
  3. मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर जवाब दें
नई दिल्ली: सीपीएम ने CBSE के पर्चे लीक होने को केंद्र सरकार की एक बड़ी असफलता बताते हुए मोदी सरकार पर हमला किया है. सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी ने शुक्रवार को कहा कि दो से ढाई साल तक सीबीएसई के चेयरमैन के पद पर कोई नियुक्ति नहीं की गई. सरकार नियमों को मनमाने तरीके से बदल रही है और प्रशासन में काफी लापरवाही है. येचुरी ने कहा कि इन सवालों पर मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर को जवाब देना चाहिए.

जाहिर है पर्चा लीक की इस घटना से सरकार की काफी फजीहत हुई है. जावड़ेकर कह चुके हैं कि वह पर्चा लीक की समस्या से जूझ रहे हैं. शुक्रवार को जावड़ेकर ने कहा, "पर्चा छपता कहीं है और उसकी पैकिंग कहीं और होती है. फिर वहां से उसे बैंक ले जाया जाता है. जब इतनी जगह से पर्चा गुजरता है तो उसकी सुरक्षा कैसे पुख्ता की जाए इसके लिए मज़बूत सिस्टम बनाना होगा."

यह भी पढ़ें : CBSE 12वीं के अर्थशास्‍त्र की परीक्षा 25 अप्रैल को होगी, 10वीं के गणित की परीक्षा सिर्फ दिल्‍ली और हरियाणा में

येचुरी ने प्रधानमंत्री की किताब 'एग्जाम वॉरियर्स' पर चुटकी लेते हुए कहा कि पर्चा लीक होने से 25 लाख बच्चों को जो दिक्कत हुई है उसके बाद प्रधानमंत्री मोदी को इस पर एक 'मन की बात' जरूर करनी चाहिए.

टिप्पणियां
VIDEO : दिल्ली में छात्रों और अभिभावकों का प्रदर्शन

CBSE में दसवीं और बारहवीं के प्रश्न पत्र लीक होने से लाखों छात्रों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. अगले महीने कई प्रतियोगिता परीक्षाएं होनी हैं और छात्रों को इसके साथ अब नए सिरे से उन परीक्षाओं को भी देना होगा जो अब पर्चा लीक होने के बाद फिर से कराई जानी हैं. इससे परेशान कई छात्र और माता-पिता देशभर में जगह-जगह प्रदर्शन भी कर चुके हैं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement