यह ख़बर 28 नवंबर, 2013 को प्रकाशित हुई थी

सीसीटीवी में पीड़िता को लिफ्ट में खींचते दिखाई दे रहे हैं तरुण तेजपाल : गोवा पुलिस

सीसीटीवी में पीड़िता को लिफ्ट में खींचते दिखाई दे रहे हैं तरुण तेजपाल : गोवा पुलिस

फाइल फोटो

पणजी:

महिला पत्रकार के यौन उत्पीड़न के आरोपों में फंसे तहलका के संस्थापक संपादक तरुण तेजपाल की मुश्किलें और बढ़ गई हैं। दरअसल, गोवा पुलिस को होटल से मिली सीसीटीवी फुटेज ने पीड़िता के बयान में बताए गए तथ्यों की पुष्टि की है।

फुटेज की जांच कर रही टीम में शामिल एक वरिष्ठ अधिकारी ने अपना नाम गोपनीय रखने की शर्त पर बताया कि जिस लिफ्ट में कथित रूप से यौन उत्पीड़न की घटना हुई थी, उसके बाहर की सीसीटीवी फुटेज पीड़िता के बयान की पुष्टि करती है।

अधिकारी ने कहा, होटल के ब्लॉक 7 की लिफ्ट के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरे की 7 नवंबर की फुटेज में यह स्पष्ट है कि लिफ्ट में कुछ गलत हुआ था। उन्होंने कहा, फुटेज में शुरआत में दिखाई देता है कि तेजपाल और पीड़िता हॉलीवुड अभिनेता रोबर्ट डीनीरो को उनके कमरे तक छोड़ते हैं। तेजपाल रात को लगभग 9 बजे लिफ्ट में युवा पत्रकार के साथ प्रवेश करते दिखाई देते हैं और इस दौरान उनके हाथ महिला के कंधों पर है।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

अधिकारी ने कहा, डेढ़ घंटे बाद रात करीब 10.30 बजे तेजपाल भूतल पर उसी लिफ्ट के पास महिला को अंदर खींचते दिखाई दे रहे हैं।
 
अधिकारी ने बताया कि फुटेज में लिफ्ट लगभग दो मिनट बाद दूसरी मंजिल पर खुलती दिखाई देती है। उन्होंने कहा, महिला अपने कपड़े ठीक करते हुए लिफ्ट से बाहर आती और सीढ़ियों से नीचे उतरती नजर आ रही है तथा तेजपाल उसका पीछा करता दिखाई देता है। महिला पत्रकार ने तेजपाल पर आरोप लगाया है कि उसने तहलका द्वारा आयोजित थिंकफेस्ट के दौरान 7 और 8 नवंबर को उसका उत्पीड़न किया था। पत्रकार ने तहलका की प्रबंध संपादक (जिन्होंने आज पद से इस्तीफा दे दिया) शोमा चटर्जी को पिछले सोमवार को इस संबंध में ई-मेल भेजकर शिकायत की थी। इस मामले का स्वत: संज्ञान लेते हुए गोवा पुलिस ने तेजपाल के खिलाफ बलात्कार और शील भंग करने का मामला दर्ज किया है।

हालांकि तेजपाल ने शुरुआत में इस घटना के लिए महिला से माफी मांगी थी, लेकिन बाद में उसने कहा कि यह ‘शराब के नशे में किया गया हंसी मजाक’ था और सब कुछ ‘सहमति’ से हुआ था। पत्रकार ने तेजपाल के दावों का खंडन किया है।