NDTV Khabar

जम्मू-कश्मीर के पुंछ में पाकिस्तानी फायरिंग में 2 की मौत, कुपवाड़ा में एक घुसपैठिया ढेर

वहीं कुपवाड़ा के तंगधार सेक्टर में सेना ने घुसपैठ की कोशिश को नाकाम कर दिया है. एलओसी पर ही एक घुसपैठिया ढेर हो गया.

112 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
जम्मू-कश्मीर के पुंछ में पाकिस्तानी फायरिंग में 2 की मौत, कुपवाड़ा में एक घुसपैठिया ढेर

पुंछ में पाकिस्तान की ओर से फायरिंग

खास बातें

  1. पुंछ में पाकिस्तान ने की भारी फायरिंग
  2. फायरिंग में 10 साल के बच्चे की मौत
  3. कुपवाड़ा में एक घुसपैठिया ढेर
पुंछ: जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तान की ओर से की जा रही भारी गोलाबारी और गोलीबारी में एक बच्चे सहित दो लोगों की मौत हो गई और 12 लोग घायल हो गए.  वहीं कुपवाड़ा के तंगधार सेक्टर में सेना ने घुसपैठ की कोशिश को नाकाम कर दिया है. एलओसी पर ही एक घुसपैठिया ढेर हो गया. केरन क्षेत्र में पाकिस्तान ने भारी गोलाबारी की, जिसके बाद भारत ने भी जवाबी कार्रवाई की. पाकिस्तानी सेना द्वारा भारतीय चौकियों पर बिना किसी कारणवश गोलाबारी और गोलीबारी शुरू की गई. 

जम्मू-कश्मीर पुलिस का बयान, घर में घुसकर BSF जवान की हत्या के पीछे लश्कर-ए-तैयबा

कुछ दिन पहले ही पाकिस्तानी सेना ने जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा के पास अग्रिम चौकियों तथा गांवों पर मोर्टार के गोले दागे और छोटे हथियार से गोलीबारी की जिसमें दो आम नागरिक घायल हो गए थे. रक्षा प्रवक्ता ने बताया कि भारतीय सेना ने इसका प्रभावी ढंग से जवाब दिया.

पाकिस्तान ने फिर किया संघर्ष विराम का उल्लंघन, सेना ने दिया मुंहतोड़ जवाब

प्रवक्ता ने बताया था कि पाकिस्तानी सेना ने नियंत्रण रेखा से लगे पुंछ और भीमबर गली सेक्टर में सुबह करीब सवा आठ बजे से बिना किसी उकसावे के अग्रिम चौकियों को निशाना बनाना शुरू किया था. उन्होंने छोटे हथियारों, स्वचालित राइफलों से गोलीबारी की और मोर्टार दागे थे. पाकिस्तानी सैनिकों ने नियंत्रण रेखा पर भीमबर गली, बालाकोट, शाहपुर और पुंछ गांवों में भी मोर्टार दागे और स्वचालित राइफलों से गोलीबारी की थी.

टिप्पणियां
महबूबा मुफ्ती ने कहा- घाटी की छवि बदलेगी, मेहमाननवाज कश्मीर कहिए जनाब...

इससे पहले, 24 सितंबर को पुंछ जिले के बालाकोट सेक्टर में नियंत्रण रेखा से लगी अग्रिम चौकियों पर पाकिस्तान की गोलीबारी में सेना के दो जवान घायल हो गए थे. पाकिस्तानी सेनाओं ने 23 सितंबर को जम्मू, सांबा और पुंछ जिलों में नियंत्रण रेखा पर तथा अंतरराष्ट्रीय सीमा पर अरनिया, आरएस पुरा और रामगढ़ तथा पुंछ सेक्टरों में अग्रिम चौकियों पर गोलीबारी की जिसमें सात लोग घायल हो गये थे. सीमा पार से होने वाली गोलीबारी और गोलाबारी के कारण अरनिया और आरएसपुरा सेक्टरों में अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास बसी बस्तियों से 20,000 से अधिक लोगों को घर-बार छोड़ कर अन्यत्र जाना पड़ा है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement