मानसिक तनाव, अवसाद से बचाने के लिए केंद्र की नई हेल्पलाइन 'किरण' शुरू

पिछले कुछ महीनों में आत्महत्याओं के मामलों में भी इज़ाफ़ा देखा गया. ऐसे ही निराश लोगों की मदद के लिए सरकार ने एक पहल की है.

मानसिक तनाव, अवसाद से बचाने के लिए केंद्र की नई हेल्पलाइन 'किरण' शुरू

निराश लोगों की मदद के लिए सरकार ने एक पहल की है

नई दिल्ली:

कोरोनावायरस और उससे फैली महामारी के दौर में मानसिक रोगियों की तादाद लगातार बढ़ती जा रही है. ऐसे कई मामले देखने में आए हैं, जब लॉकडाउन में अकेलेपन, आर्थिक असुरक्षा, नौकरियों के जाने की वजह से लोग डिप्रेशन में चले गए. पिछले कुछ महीनों में आत्महत्याओं के मामलों में भी इज़ाफ़ा देखा गया. ऐसे ही निराश लोगों की मदद के लिए सरकार ने एक पहल की है, और सोमवार को केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री थावरचंद गहलोत ने मानसिक स्वास्थ्य पुनर्वास हेल्पलाइन 'किरण' (1800-599-0019) का वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के ज़रिये उद्घाटन किया.

यह भी पढ़ें: कोविड-19 महामारी के चलते आधे युवा अवसाद और चिंता का शिकार, ILO के सर्वे में आया सामने

बताया गया है कि इस हेल्पलाइन के ज़रिये मरीज़ों की स्क्रीनिंग, इलाज और उनके पुनर्वास की व्यवस्था की जाएगी. यह व्यवस्था नि:शुल्क होगी, और इसका उद्देश्य तनाव, चिंता, अवसाद, पैनिक अटैक समेत सभी मानसिक परेशानियों से लोगों को बचाने का है. हेल्पलाइन देशभर में 13 भाषाओं में चौबीसों घंटे उपलब्ध होगी. 

यह भी पढ़ें: COVID-19 मरीजों के मानसिक स्वास्थ्य पर डाल सकता है असर, डिप्रेशन और एंजाइटी का खतरा - स्टडी

Newsbeep

इस अवसर पर केंद्रीय मंत्री थावरचंद गहलोत ने मानसिक स्वास्थ्य रोगियों को पुनर्वास संबंधी सेवाएं प्रदान करने के लिए मध्य प्रदेश के सीहोर में NIMHR की स्थापना की भी जानकारी दी. इस मौके पर DEPWD सचिव शकुंतला डी. गामलिन ने कहा कि समाज को ऐसे लोगों को हीनभावना से नहीं देखना चाहिए, बल्कि इससे उबरने में उनका भरपूर साथ देना चाहिए. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


Video: लॉकडाउन में अकेलापन, असुरक्षा और अवसाद बढ़े