NDTV Khabar

रेल मंत्री पीयूष गोयल के खिलाफ लेख लिखकर सवाल उठाने वाले ओएसडी का कम हुआ कार्यकाल

लेख में भारत सरकार के सचिव स्तर के अधिकारियों की बुद्धिमता पर सवाल उठाने के साथ ही रेल मंत्री (पीयूष गोयल) पर भी आक्षेप लगाए गए थे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
रेल मंत्री पीयूष गोयल के खिलाफ लेख लिखकर सवाल उठाने वाले ओएसडी का कम हुआ कार्यकाल

रेल मंत्री पीयूष गोयल. (फाइल तस्वीर)

खास बातें

  1. अधिकारी ने रेल मंत्री के खिलाफ लिखा था लेख
  2. लेख में उठाए गए थे कई सवाल
  3. केंद्र सरकार ने कम किया कार्यकाल
नई दिल्ली:

एक लेख लिखकर रेल मंत्री पीयूष गोयल (Piyush Goyal) पर आक्षेप लगाने तथा वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों की बुद्धिमता पर सवाल उठाने वाले केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह के विशेष कार्याधिकारी (ओएसडी) के कार्यकाल में केंद्र ने सोमवार को कटौती कर दी. कार्मिक मंत्रालय के एक आदेश के अनुसार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में मंत्रिमंडल की नियुक्ति समिति ने 2005 बैच के इंडियन रेलवे पर्सनल सर्विस (आईआरपीएस) के अधिकारी संजीव कुमार को उनके पुराने विभाग में वापस भेजने की मंजूरी दे दी. 

रेल मंत्रालय ने कार्मिक मंत्रालय से कुमार को ‘आधिकारिक शिष्टाचार का उल्लंघन' के लिए तत्काल उनके पुराने विभाग में भेजे जाने के संबंध में एक पत्र लिखा था. पत्र लिखने के एक महीने के बाद यह कदम उठाया गया है. रेलवे बोर्ड के तत्कालीन सचिव रंजनेश सहाय ने अपने एक पत्र में कार्मिक मंत्रालय को लिखा था कि आईआरपीएस संजीव कुमार के आधिकारिक शिष्टाचार का उल्लंघन करने का मामला रेलवे बोर्ड के संज्ञान में लाया गया है. 

Exclusive: रेलवे में 1 लाख 31 हजार पदों के लिए 23 फरवरी को जारी होगा नोटिफिकेशन, जानिए डिटेल


कुमार ने एक लेख लिखा था जो रेलसमाचार.कॉम और नेशनलव्हील्स.कॉम में प्रकाशित हुआ था. जिसकी वजह से उन पर यह आरोप लगे हैं. इस लेख में भारत सरकार के सचिव स्तर के अधिकारियों की बुद्धिमता पर सवाल उठाने के साथ ही रेल मंत्री (पीयूष गोयल) पर भी आक्षेप लगाए गए थे.

(इनपुट- भाषा)

Railway Jobs: पीयूष गोयल की बड़ी घोषणा, रेलवे में 4 लाख लोगों की होगी भर्ती, मिलेगा 10 फीसदी आरक्षण

टिप्पणियां

VIDEO- रेलवे में खाली पड़े लाखों पद कब भरे जाएंगे?

 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement