NDTV Khabar

केंद्र ने अर्द्धसैनिक बलों के 600 जवानों को दार्जलिंग भेजा, राज्य सरकार से रिपोर्ट मांगी

केंद्र सरकार ने हिंसा प्रभावित दार्जलिंग में स्थिति सामान्य करने में पश्चिम बंगाल सरकार की मदद के लिए मंगलवार को अर्द्धसैनिक बलों के 600 जवानों को भेजा है जहां जीजेएम द्वारा बुलाए गए अनिश्चतकालीन बंद के दूसरे दिन पथराव की घटनाएं सामने आईं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
केंद्र ने अर्द्धसैनिक बलों के 600 जवानों को दार्जलिंग भेजा, राज्य सरकार से रिपोर्ट मांगी

गृह मंत्रालय ने कहा कि वह दार्जलिंग के हालात पर करीब से नजर रख रहा है ...

नई दिल्ली:

केंद्र सरकार ने हिंसा प्रभावित दार्जलिंग में स्थिति सामान्य करने में पश्चिम बंगाल सरकार की मदद के लिए मंगलवार को अर्द्धसैनिक बलों के 600 जवानों को भेजा है जहां जीजेएम द्वारा बुलाए गए अनिश्चतकालीन बंद के दूसरे दिन पथराव की घटनाएं सामने आईं. केंद्र सरकार ने राज्य सरकार से इस पर्वतीय जिले में मौजूदा हालात पर विस्तृत रिपोर्ट भी मांगी. केंद्रीय गृह मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने कहा कि दार्जलिंग भेजे गये जवानों में 200 महिलाएं भी शामिल हैं. पश्चिम बंगाल में पहले से ही मौजूद करीब 400 जवानों को भी अतिरिक्त बलों के साथ पहाड़ी क्षेत्र में तैनात किया गया है. उधर, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी नेे कहा कि केंद्र ने दार्जलिंग के हालात पर राज्य सरकार से कोई रिपोर्ट नहीं मांगी है.

गृह मंत्रालय ने कहा कि वह दार्जलिंग के हालात पर करीब से नजर रख रहा है और राज्य सरकार को यहां स्थिति सामान्य करने के लिए हरसंभव सहायता देने को तैयार है. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कोलकाता में राज्य सचिवालय में कहा कि पर्वतीय जिले में स्थिति शांतिपूर्ण है.दार्जलिंग में अनिश्चितकालीन बंद के दूसरे दिन गोरखालैंड समर्थकों को कई सरकारी कार्यालयों में बंद बुलाए जाने से रोका गया जिसके बाद उन्होंने कई इलाकों में आज पुलिस पर पथराव किया.


सरकार और गोरखालैंड क्षेत्रीय प्रशासन र्जीटीएी के कार्यालयों के सामने तथा हिल्स के कई प्रवेश और बाहरी मार्गों पर पुलिस ने बैरिकेड लगा दिए हैं जबकि त्वरित कार्रवाई बल (आरएएफ) और बड़ी संख्या में महिला पुलिसकमर्यिों को भी तैनात किया गया है. पथराव होने पर दुकानदारों ने दुकानों के शटर गिरा दिए. बहरहाल, जीजेएम नेतृत्व ने पुलिस पर जीजेएम रैली पर बिना उकसावे के लाठीचार्ज करने का आरोप लगाया.

टिप्पणियां

जीजेएम महासचिव रोशन गिरी ने कहा कि पुलिस ने शांतिपूर्ण रैली पर बिना उकसावे के लाठीचार्ज किया. जितना अधिक वे हमारे खिलाफ बल का इस्तेमाल करेंगे अलग गोरखालैंड राज्य के लिए संघर्ष उतना तेज होगा. सरकारी कार्यालयों में अनुपस्थिति कल सामान्ये रही. हालांकि दार्जलिंग हिल्स में 12 जून से शुरू सरकारी और जीटीए कार्यालयों में जीजेएम के अनिश्चितकालीन बंद के दौरान कुछ छिटपुट घटनाएं भी दर्ज की गई.

(इनपुट भाषा से भी)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement