उड़ान सेवा शुरू करने की केंद्र की योजना से कुछ राज्यों की बढ़ी टेंशन, महाराष्ट्र के गृह मंत्री बोले- 'रेड ज़ोन में एयरपोर्ट खोलना नासमझी'

कोरोनावायरस लॉकडाउन के बीच सोमवार से घरेलू उड़ानों को शुरू करने की तैयारी है लेकिन अभी तक इससे जुड़े नियमों को लेकर राज्यों में भ्रम की स्थिति बनी हुई है.

उड़ान सेवा शुरू करने की केंद्र की योजना से कुछ राज्यों की बढ़ी टेंशन, महाराष्ट्र के गृह मंत्री बोले- 'रेड ज़ोन में एयरपोर्ट खोलना नासमझी'

केंद्र के उड़ान शुरू करने के फैसले को लेकर राज्यों ने जताई चिंता (फाइल फोटो)

खास बातें

  • रेड जोन में हवाईअड्डे पुन: खोलना अत्यंत नासमझी है : देशमुख
  • महाराष्ट्र में कोरोना वायरस संक्रमण के अब तक कुल 47,190 मामले आए
  • तीन राज्यों ने केंद्र की योजना पर जताई चिंता
नई दिल्ली:

कोरोनावायरस लॉकडाउन के बीच सोमवार से घरेलू उड़ानों को शुरू करने की तैयारी है लेकिन अभी तक इससे जुड़े नियमों को लेकर राज्यों में भ्रम की स्थिति बनी हुई है. महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल और तमिलनाडु ने यात्री उड़ानें फिर से शुरू करने की केंद्र सरकार की योजना को लेकर चिंता जताई है. इन राज्यों में देश के सबसे व्यस्त हवाई अड्डों में शुमार हवाई अड्डे आते हैं. महाराष्ट्र सरकार ने शनिवार को इसे लेकर अपना रुख स्पष्ट कर दिया है. 

महाराष्ट्र सरकार ने शनिवार को कहा कि राज्य सरकार ने 19 मई के अपने लॉकडाउन संबंधी आदेश में संशोधन नहीं किया है. इस आदेश में सिर्फ विशेष उड़ानों की अनुमति दी गई है. यह इस बात का स्पष्ट संकेत है कि महाराष्ट्र ज्यादा लोगों के राज्य में आने को लेकर उत्सुक नहीं है. महाराष्ट्र कोरोनावायरस से सर्वाधिक प्रभावित राज्य है. 

महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने अपने ट्वीट में कहा, "रेड जोन में हवाईअड्डे खोलने की सलाह अत्यंत नासमझी वाली है. केवल यात्रियों की थर्मल जांच करना और लार के नमूने नहीं लेना अपर्याप्त होगा. मौजूदा परिस्थितियों में ऑटो/कैब/बसें चलाना असंभव है. संक्रमित रोगी के आने से रेड जोन पर दबाव और बढ़ जाएगा."

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस संक्रमण के अब तक कुल 47,190 मामले सामने आए हैं जिनमें 28,817 मामले मुंबई से हैं. महानगर में संक्रमण से अब तक 949 लोगों की मौत हो चुकी है.

तमिलनाडु ने इसी तरह की चिंता जताते हुए नागर विमानन मंत्रालय से योजना को 31 मई तक टालने का आग्रह किया है. कोरोना संक्रमण के मामलों के लिहाज से तमिलनाडु दूसरा सबसे प्रभावित राज्य है.  

वहीं, पश्चिम बंगाल सरकार ने साइक्लोन अम्फान (Amphan) से हुई तबाही का हवाला देते कि कोलकाता की उड़ानों पर कम से कम 30 मई तक रोक लगाने का आग्रह किया है. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि वह 30 मई तक उड़ानों को बागडोगरा हवाई अड्डों पर भेजने के लिए केंद्र को पत्र लिखेंगी. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

केंद्रीय नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने शनिवार को संकेत दिए हैं कि जून मध्य से अंतरराष्ट्रीय उड़ानें भी शुरू की जा सकती हैं. पुरी ने एक फेसबुक लाइव सत्र के दौरान कहा, "मुझे पूरी उम्मीद है कि अगस्त या सितंबर से पहले हम पूर्ण रूप से ना सही, लेकिन अच्छी-खासी संख्या में अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के परिचालन को फिर से शुरू करने की कोशिश करेंगे.” उन्होंने कहा, ‘‘मैं इसकी तारीख (अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को फिर से शुरू करने की) नहीं बता सकता. लेकिन यदि कोई व्यक्ति कहता है कि क्या यह अगस्त या सितंबर तक हो सकता है, तो मेरा जवाब होगा कि इससे पहले क्यों नहीं और यह स्थिति पर निर्भर करता है.'' 

वीडियो: जून के मध्य से अंतरराष्ट्रीय हवाई यात्राओं की हो सकती है शुरुआत : नागरिक उड्डयन मंत्री