NDTV Khabar

चंडीगढ़ केस : छेड़खानी की घटना से जुड़े 5 CCTV कैमरों के फुटेज गायब- कांग्रेस

पीड़ित लड़की का आरोप है कि विकास बराला और उसका दोस्त आशीष कुमार एक पेट्रोल पंप से ही उनकी कार का पीछा कर रहे थे और फिर उन्होंने कार को रोकने की कोशिश भी की.

23 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
चंडीगढ़ केस : छेड़खानी की घटना से जुड़े 5 CCTV कैमरों के फुटेज गायब- कांग्रेस

हरियाणा बीजेपी अध्‍यक्ष के बेटे विकास बराला पर लड़की का पीछा करने का आरोप है

नई दिल्ली: हरियाणा बीजेपी के अध्यक्ष सुभाष बराला के बेटे विकास बराला के खिलाफ छेड़खानी के आरोप का मामला तूल पकड़ता जा रहा है. कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि इस घटना से जुड़े पांच सीसीटीवी कैमरों के फुटेज गायब हैं. वहीं हरियाणा बीजेपी के अध्यक्ष बेटे और उसके एक साथी को थाने से ही ज़मानत दिए जाने और इस मामले में अपहरण की धाराएं न लगाए जाने पर सवाल उठ रहे हैं.

यह भी पढ़ें: 'मैं खुशकिस्मत हूं कि मेरा रेप नहीं हुआ, न ही मैं मरी पाई गई...'

पीड़ित लड़की का आरोप है कि विकास बराला और उसका दोस्त आशीष कुमार एक पेट्रोल पंप से ही उनकी कार का पीछा कर रहे थे और फिर उन्होंने कार को रोकने की कोशिश भी की. दो बार इनमें से एक आदमी अपनी गाड़ी से निकला और उसने कार का दरवाज़ा खोलने की कोशिश की, लेकिन पुलिस का कहना है कि अपहरण का आरोप इसलिए नहीं लगाया गया क्योंकि लड़की के अपने बयान में ये आरोप नहीं लगाया है..

कांग्रेस के नेता रणजीद सुरजेवाला ने कहा कि बीजेपी आरोपी को बचाने के लिए चंडीगढ़ पुलिस पर दबाव बना रही है. क्या अमित शाह और बीजेपी हरियाणा बीजेपी अध्यक्ष का इस्तीफ़ा लेंगे? इस मामले में अपहरण की धाराएं क्यों नहीं लगाई गईं. ऐसा इसलिए क्योंकि आरोपी राज्य बीजेपी प्रमुख का बेटा है. बीजेपी जो कर रही है वह बिल्कुल एकतरफ़ा है. पीएम मोदी और सीएम खट्टर, क्या यही सबका साथ, सबका विकास है?

पढ़ें : पीड़िता बोली, पुलिस ने भी अपनी आंखों से देखा वे लोग क्या कर रहे थे

इस मामले में हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्ट ने कहा है कि इसे व्यक्तिगत मामले की तरह देखना चाहिए, हरियाणा बीजेपी के अध्यक्ष से इसका कोई लेना देना नहीं है. 

VIDEO: पीड़िता ने सुनाई आपबीती
उल्लेखनीय है कि रविवार को पीड़ि‍त लड़की के आईएएस अधिकारी पिता ने सोशल मीडिया पर लोगों से आह्वान किया कि महिलाओं के खिलाफ अपराधों से लड़ाई लड़ें. उन्होंने अपने परिवार की व्यथा भी साझा की है. पीड़ित लड़की ने भी अपनी वेदना जाहिर करते हुए एक पोस्ट डाली है जिसमें उसने लिखा है कि वह सौभाग्यशाली है कि किसी आम आदमी की बेटी नहीं है, अन्यथा वह जानती है कि उसकी क्या हालत होती.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement