NDTV Khabar

चंडीगढ़ छेड़खानी मामाला : राहुल गांधी ने ट्विटर पर लिखा - आरोपियों से मिलीभगत ने करे सरकार

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि राज्य सरकार को दोषी को दंडित करना चाहिए.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
चंडीगढ़ छेड़खानी मामाला : राहुल गांधी ने ट्विटर पर लिखा - आरोपियों से मिलीभगत ने करे सरकार

राहुल ने बिना किसी का नाम लिए ट्विटर पर घटना की निंदा की....

खास बातें

  1. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने हरियाणा छेड़खानी मामले की निंदा की
  2. कहा सराकर को अपराधियों से 'मिलीभगत' नहीं करनी चाहिए
  3. आरोपी को तत्काल जमानत दिए जाने के बाद उठे सवाल
नई दिल्ली:

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने हरियाणा भाजपा के वरिष्ठ नेता के बेटे विकास बराला द्वारा चंडीगढ़ में एक महिला का कथित तौर पर पीछा किए जाने की रविवार को निंदा करते हुए कहा कि राज्य सरकार को दोषी को दंडित करना चाहिए और अपराधियों से 'मिलीभगत' नहीं करनी चाहिए. उधर, इस मामले में सीएम मनोहर लाल खट्टर ने कहा है कि इस घटना के लिए सुभाषा बराला को दंडित नहीं किया जा सकता है.

पीड़ित लड़की का आरोप है कि विकास बराला और उसका दोस्त आशीष कुमार एक पेट्रोल पंप से ही उनकी कार का पीछा कर रहे थे और कार का दरवाज़ा खोलने की कोशिश की. लड़की के कई बार फोन करने पर पुलिस वहां पहुंची और दोनों लड़कों को गिरफ़्तार कर लिया.

पढ़ें: मैं खुशकिस्मत हूं कि मेरा रेप नहीं हुआ, न ही मैं मरी पाई गई... : हरियाणा बीजेपी अध्यक्ष के बेटे पर आरोप लगाने वाली पीड़ित


राहुल ने बिना किसी का नाम लिए ट्विटर पर घटना की निंदा की. एक दिन पहले हरियाणा भाजपा के प्रमुख सुभाष बराला के बेटे विकास और उसके दोस्त आशीष कुमार को एक महिला का कथित तौर पर पीछा करने के लिए गिरफ्तार किया गया था और इसके तुरंत बाद उन्हें जमानत पर रिहा कर दिया गया.

पढ़ें: हरियाणा बीजेपी अध्यक्ष को उनके बेटे के अपराध के लिए सजा नहीं दे सकते : सीएम खट्टर

उन्होंने ट्वीट किया, "चंडीगढ़ में लड़की का अपहरण और उससे छेड़छाड़ करने के प्रयास की निंदा करता हूं. भाजपा सरकार को दोषियों को दंडित करना चाहिए न कि दोषियों और उस मानसिकता के लोगों से मिलीभगत करनी चाहिए." पुलिस ने कहा कि लड़की ने विकास और उसके दोस्त आशीष कुमार पर शुक्रवार की रात को उसका पीछा करने के आरोप लगाए थे जिसके बाद दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया.
 

VIDEO : तंग करने वालों का बैकग्राउंड नहीं जानती थी : पीड़िता

टिप्पणियां

उधर, पुलिस ने आरोपियों के ख़िलाफ़ गाड़ी का पीछा करने और शराब के नशे में गाड़ी चलाने का आरोप दर्ज किया है. दोनों को ही ज़मानत पर रिहा कर दिया गया है. पुलिस का कहना है कि अपहरण का आरोप इसलिए नहीं लगाया गया क्योंकि लड़की के अपने बयान में ये आरोप नहीं लगाया है. उधर, लड़की का कहना है कि एक प्रभावशाली परिवार से आने के कारण आरोपियों को लगता है कि वो किसी के साथ कुछ भी कर सकते हैं. 

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement