होशियारपुर दलित रेप कांड में आरोपपत्र जल्द, अमरिंदर ने भाजपा के हमलों पर किया पलटवार

Hoshiarpur Dalit Girl Rape-Murder case :अमरिंदर ने कहा कि पंजाब सरकार तेजी से कार्रवाई न करती तो राहुल समेत शीर्ष नेता हाथरस की तरह होशियारपुर मामले में भी उसी तरह प्रतिक्रिया देते.

होशियारपुर दलित रेप कांड में आरोपपत्र जल्द, अमरिंदर ने भाजपा के हमलों पर किया पलटवार

होशियारपुर कांड को लेकर भाजपा नेताओं ने राहुल गांधी को घेरने की कोशिश की

पटियाला:

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने होशियारपुर दलित रेप कांड (Hoshiarpur Dalit Girl Rape-Murder ) में भाजपा के राजनीतिक हमलों पर पलटवार किया है. अमरिंदर (Captain Amrinder Singh) ने कहा कि हमने न केवल आरोपी की तुरंत गिरफ्तारी की, बल्कि उसके खिलाफ आरोपपत्र भी आने वाले हफ्ते तक पेश किया जाएगा. दरअसल, राहुल गांधी समेत कांग्रेस के शीर्ष नेताओं के होशियारपुर न जाने को लेकर बीजेपी हमलावर है. 

यह भी पढ़ें- राहुल गांधी ने BJP के तंज ''गांधी परिवार को परवाह नहीं'' का दिया जवाब - 'यूपी की तरह...'

होशियारपुर में छह साल की दलित लड़की के साथ दुष्कर्म और हत्या के मामले में केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर और निर्मला सीतारमण ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी को कठघरे में खड़ा किया है. हाथरस औऱ होशियारपुर की घटनाओं के बीच समानता को खारिज करते हुए कैप्टन अमरिंदर ने कहा कि उनकी सरकार ने त्वरित कार्रवाई की और बिना किसी देरी के आरोपी को धर दबोचा. जबकि हाथरस के केस में पीड़िता क  न्याय दिलाने के लिए राहुल गांधी को हाथरस जाना पड़ा. अगर पंजाब सरकार या पुलिस तेजी से कार्रवाई न करती तो राहुल, प्रियंका और अन्य नेता हाथरस की तरह होशियारपुर मामले में भी उसी तरह प्रतिक्रिया देते.

यह भी पढ़ें- अमरिंदर सिंह ने होशियारपुर रेप केस पर टिप्प्णी को लेकर बीजेपी को दिया जवाब

Newsbeep

राहुल गांधी ने भी बीजेपी की इन आलोचनाओं का जवाब दिया है. उन्होंने कहा, "यूपी से उलट पंजाब और राजस्थान की सरकारों ने इनकार नहीं किया कि लड़की के साथ दुष्कर्म हुआ है, न ही परिवार को धमकाया गया और न ही न्याय के रास्ते में रुकावट डालने की कोशिश की गई. अगर कांग्रेसशासित सरकारें भी ऐसा करतीं तो वे न्याय के लिए वहां भी जाते. " 
भाजपा ने यूपी में कांग्रेस नेताओं द्वारा कानून-व्यवस्था पर सवाल उठाए जाने के बाद भी कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व पर हमले तेज किए थे. अमरिंदर ने कहा कि अगर यूपी के हाथरस कांड की तरह उनकी सरकार ने इस मामले में लचर रुख अपनाया होता तो शीर्ष नेताओं को पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए सड़क पर लड़ाई का फैसला लेने को मजबूर होना पड़ता. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


गौरतलब है कि राहुल और प्रियंका गांधी लंबी जद्दोजहद के बाद हाथरस गैंगरेप पीड़िता के परिवार से मिले थे. पहले प्रयास में यूपी प्रशासन ने उन्हें वापस लौटा दिया था. हाथरस गैंगरेप कांड में जांच और फैसलों को लेकर यूपी सरकार और पुलिस इलाहाबाद को हाईकोर्ट ने भी फटकार लगाई थी. यूपी पुलिस ने फोरेंसिक रिपोर्ट के आधार पर यह संभावना भी जताई थी कि संभवतः पीड़िता के साथ दुष्कर्म न किया गया हो.