NDTV Khabar

चार्टर्ड एकाउंटेंट डिग्री को मास्टर्स की मान्यता दी जाए- ICAI

चार्टेड एकाउटेंट के शीर्ष संस्थान आईसीएआई ने चार्टर्ड एकाउंटेंट (सीए) की डिग्री को स्नात्कोत्तर डिग्री यानी मास्टर्स के बराबर मान्यता देने मांग की है.

8 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
चार्टर्ड एकाउंटेंट डिग्री को मास्टर्स की मान्यता दी जाए- ICAI

चार्टेड एकाउंटेंट का पाठ्यक्रम कठिन पाठ्यक्रमों में से एक है, इसीलिए इसके रिजल्ट का प्रतिशत कम रहता है

नई दिल्ली: चार्टेड एकाउटेंट के शीर्ष निकाय भारतीय सनदी लेखाकार संस्थान (आईसीएआई) ने चार्टर्ड एकाउंटेंट (सीए) की डिग्री को स्नात्कोत्तर डिग्री यानी मास्टर्स के बराबर मान्यता देने मांग की है और सीए-इंटरमीडिएट को स्नातक डिग्री की बराबर मान्यता देने का आग्रह किया है.

आईसीएआई ने कहा कि उसने हाल ही में इस संदर्भ में कॉरपोरेट कार्य मंत्रालय को पत्र लिखा है और मामले में हस्तक्षेप का आग्रह किया है. संस्थान के अनुसार, इससे न केवल चार्टेड एकाउंटेंट (सीए) को उच्च अध्ययन में मदद मिलेगी बल्कि उनका वैश्विक स्तर पर काम करने का रास्ता सुगम होगा. साथ ही इससे विश्व को बेहतर क्षमता वाले पेशेवर तथा शिक्षाविद उपलब्ध कराने में भी मदद मिलेगी.

पढ़ें: चार्टर्ड एकाउंटेंट बनना चाहते थे अरुण जेटली

आईसीएआई की पठन-पाठन की समग्र व्यवस्था है. परीक्षा प्रणाली कड़ी है जहां सीए बनने वालों के लिये सैद्धांतिक शिक्षा के साथ तीन साल का व्यवहारिक प्रशिक्षण भी दिया जाता है. उन्हें एकाउंटिंग, वित्त, कर, कानून, व्यापार प्रणाली और रणनीति जैसे संबंधित क्षेत्रों में कई एसाइनमेंट को पूरा करना होता है. उसके अनुसार इस प्रकार का कठिन परीक्षण किसी भी स्नात्कोत्तर परीक्षा में नहीं होता है जैसा कि सीए के मामले में है.

टिप्पणियां
VIDEO:अर्थ जगत के ऋषि मुनि हैं CA, बोले पीएम मोदी
आईसीएआई की किसी भी स्तर पर परीक्षा में छात्र को प्रत्येक विषय में न्यूनतम 40-40 प्रतिशत अंक प्राप्त करने होते हैं. सचाई यह है कि चार्टेड एकाउंटेंट का पाठ्यक्रम देश में कठिन पाठ्यक्रमों में से एक है और इसीलिए परीक्षा पास करने वालों का प्रतिशत कम रहता है. भारतीय सनदी लेखकार संस्थान चार्टेड एकाउंटेंट कानून, 1949 के तहत सांविधिक निकाय के रूप में गठित किया गया है. इसका काम देश में चार्टेड एकाउटेंट के पेशे का नियमन करना है.

(इनपुट भाषा से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement