छत्तीसगढ़ : अचानक किसी भी गांव में उतरेगा मुख्यमंत्री रमन सिंह का उड़न खटोला

छत्तीसगढ़ : अचानक किसी भी गांव में उतरेगा मुख्यमंत्री रमन सिंह का उड़न खटोला

मुख्यमंत्री रमन सिंह (फाइल फोटो)

रायपुर:

छत्तीसगढ़ में लोक सुराज अभियान का स्वरूप इस बार कुछ बदला सा है. समाधान शिविरों का दौर 3 अप्रैल से चलेगा. इस दौरान मुख्यमंत्री रमन सिंह का उड़न खटोला अचानक किसी गांव में उतरेगा और लोगों की समस्याओं का समाधान किया जाएगा. इसके लिए फरवरी के आखिरी तीन दिनों में आवेदन मंगाए गए थे. पूरे मार्च से 2 अप्रैल तक प्रदेशभर से मिले आवेदनों का निराकरण प्रशासनिक स्तर पर किया गया. इस बार लोक सुराज अभियान के तहत प्राप्त आवेदनों में लोगों ने कई दिलचस्प समस्याएं भी लिखी हैं. किसी ने खुद को मुख्यमंत्री बनाने की मांग की है, तो किसी ने स्वयं की शादी के लिए आवेदन लगाया है.

लोक सुराज अभियान में सबसे ज्यादा आवेदन बिलासपुर के ग्रामीण क्षेत्रों से आए हैं. बिलासपुर के ग्रामीण क्षेत्रों में 2 लाख 89 हजार, जांजगीर में 1 लाख 94 हजार, बलौदाबाजार में 1 लाख 90 हजार, राजनांदगांव में 1 लाख 74 हजार, रायगढ़ में 1 लाख 62 हजार, मुंगेली में 1 लाख 36 हजार, कोरबा में 1 लाख 16 हजार, कबीरधाम में 1 लाख 1 हजार और शहरी क्षेत्रों में दुर्ग से 24 हजार, कोरबा से 16 हजार, राजनांदगांव में 15 हजार, रायगढ़ में 14 हजार, जांजगीर से 13 हजार और बिलासपुर से 13 हजार आवेदन आए हैं.

बताया जाता है कि लोक सुराज के लिए फरवरी महीने में 26, 27 और 28 को लगे तीन दिनों के आवेदन शिविर में ही 28 लाख 33, 872 आवेदन आ चुके हैं. इसमें भी ऑनलाइन मात्र 8197 आवेदन मिले हैं, वहीं शहरी क्षेत्रों के आवेदन 2 लाख 54 हजार 697 तो ग्रामीण क्षेत्रों के कुल 25 लाख 70 हजार 978 आवेदन आए हैं. अब सोमवार से लोक सुराज अभियान के तीसरे चरण के तहत 3 अप्रैल से 20 मई तक चलने वाले समाधान शिविरों में आवेदनों के निराकरण की जानकारी दी जाएगी.

(इनपुट आईएएनएस से भी)

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com