छत्तीसगढ़ : सीआरपीएफ कांस्टेबल ने गोलीबारी मामले में फंसाने का दावा किया

सीआरपीएफ अधिकारी ने कहा- सुनियोजित हत्याएं, कंपनी कमांडर के सामने आत्मसमर्पण करके अपराध कबूल करने के बाद बयान से पलटा आरोपी

छत्तीसगढ़ : सीआरपीएफ कांस्टेबल ने गोलीबारी मामले में फंसाने का दावा किया

प्रतीकात्मक फोटो.

खास बातें

  • संतकुमार ने कहा- किसने किस पर गोली चलाई, मुझे कुछ नहीं पता
  • गोलियों की आवाज सुनने के बाद हथियार उठाकर पोजीशन ले ली थी
  • दो उपनिरीक्षकों सहित चार कर्मियों की हत्या करने का आरोप
रायपुर:

छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले में एक शिविर में चार सहकर्मियों की गोली मारकर हत्या करने के आरोपी केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) कांस्टेबल संत कुमार यादव ने रविवार को कहा कि उसे मामले में फंसाया जा रहा है. हालांकि एक अधिकारी ने यादव के दावे को खारिज करते हुए कहा कि ये ‘‘सुनियोजित’’ हत्याएं हैं.

पुलिस ने बताया कि 35 साल के यादव को रविवार को बीजापुर की एक अदालत में पेश किया गया जिसने यादव को दो हफ्ते की न्यायिक हिरासत में भेज दिया. यादव ने कथित रूप से बासगुडा में सीआरपीएफ की 168वीं बटालियन की ‘जी’ कंपनी शिविर में गोली चलाकर दो उपनिरीक्षकों सहित चार कर्मियों को मार दिया और एक उपनिरीक्षक को घायल कर दिया.

यह भी पढ़ें : छत्तीसगढ़ : सीआरपीएफ जवान ने अपने साथियों पर गोलियां बरसाईं, चार की मौत

उसने रविवार को अदालत परिसर में मीडिया से कहा, ‘‘मैंने शनिवार को दोपहर दो बजे से शाम चार बजे तक की अपनी ड्यूटी पूरी की और फिर तरोताजा होने के लिए गया. शाम करीब पांच बजे मैंने गोलियों की आवाज सुनी और तुरंत भागा. मैंने दूसरे कर्मियों की तरह तुरंत अपने हथियार के साथ अपनी जगह संभाल ली. किसने किस पर गोली चलाई, मुझे कुछ नहीं पता.’’ इसी बीच बीजापुर में तैनात एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि प्रारंभिक जांच में पता चला है कि यादव ने ‘‘सुनियोजित’’ तरीके से अपने सहकर्मियों पर हमला किया.

VIDEO : अपने साथियों पर की फायरिंग


यादव से हिरासत में पूछताछ करने वाले अधिकारी ने कहा, ‘‘घटना के बाद यादव ने कंपनी कमांडर के सामने आत्मसमर्पण कर दिया और अपराध को अंजाम देने की बात कबूल की. लेकिन रविवार को सुबह वह अपने बयान से पलट गया.’’
(इनपुट भाषा से)

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com