छोटा शकील ने दी छोटा राजन को जान से मारने की धमकी, SMS के बाद आया कॉल

छोटा शकील ने दी छोटा राजन को जान से मारने की धमकी, SMS के बाद आया कॉल

छोटा राजन (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

बीते वर्ष अक्टूबर में इंडोनेशिया के बाली से पकड़कर भारत में प्रत्यर्पित करके लाए गए अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन को उच्च सुरक्षा वाली तिहाड़ जेल में भी जान का खतरा है। यह जानकारी दिल्ली पुलिस के सूत्रों ने दी है।

इन सूत्रों ने कहा कि भगोड़े डॉन दाउद इब्राहिम के करीबी सहयोगी छोटा शकील के सेलफोन से कथित तौर पर एक एसएमएस तिहाड़ जेल के एक वरिष्ठ अधिकारी को भेजा गया था। इसमें छोटा राजन को जान से मारने की धमकी दी गई थी। इसके चलते वरिष्ठ अधिकारी को छोटा राजन की सुरक्षा बढ़ानी पड़ी।

एसएमएस के बाद आया था कॉल
सूत्रों ने कहा कि यह एसएमएस मोबाइल नंबर 971504265138 से तिहाड़ के कानून अधिकारी सुनील गुप्ता को भेजा गया था। इसमें छोटा राजन का जल्द ही ‘द एंड’ करने की धमकी दी गई थी। एसएमएस के बाद तिहाड़ के लैंडलाइन नंबर पर फोन कॉल आया था। इसके बाद राजन की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। पुलिस को धमकी भरी कॉल के बारे में भी सूचित किया गया है।

क्या लिखा था एसएमएस में...
‘हाजी छोटा शकील’ की ओर से आए संदेश में लिखा गया था, ‘तुम कब तक इस मरे हुए सुअर को मौत से बचाओगे? जल्द ही मैं उसका खात्मा कर दूंगा।’ 

पुलिस कर रही मामले की जांच
विशेष प्रकोष्ठ के एक अधिकारी ने तिहाड़ के एक अधिकारी को संदेश मिलने की पुष्टि की, लेकिन उन्होंने इससे ज्यादा कुछ नहीं बताया। गुप्ता को बीते वर्ष 24 नवंबर की सुबह एसएमएस मिला था। उसके बाद वह इस बात को उच्च अधिकारियों के ध्यान में लेकर आए। उन्होंने अपने लिए और अपने परिवार के लिए सुरक्षा की मांग की। अब पुलिस इस मामले की जांच कर रही है।

Newsbeep

25 अक्टूबर को गिरफ्तार किया गया था राजन
कुल 27 साल तक फरार रहने के बाद छोटा राजन को इंटरपोल के रेड कॉर्नर नोटिस पर 25 अक्टूबर को इंडोनेशिया के बाली में गिरफ्तार किया गया था। उसे प्रत्यर्पित करके छह नवंबर को भारत लाया गया था ताकि दिल्ली और मुंबई में उसके खिलाफ विभिन्न आपराधिक मामले चलाए जा सकें। नयी दिल्ली में एक स्थानीय अदालत ने छोटा राजन को 14 दिवसीय न्यायिक हिरासत में भेज दिया था और 19 नवंबर को उसे उच्च सुरक्षा वाली तिहाड़ जेल में बंद कर दिया गया था।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


कभी दाउद का विश्वसनीय था राजन
राजन एक समय पर दाउद का विश्वसनीय रहा है। उसे हत्या, उगाही और नशीले पदाथरें की तस्करी के 70 से ज्यादा मामलों में मुकदमों का सामना करने के लिए देश लाया गया है। छोटा राजन को भारत लाए जाने के बाद से विभिन्न जांच एजेंसियां उससे पूछताछ कर चुकी हैं। वह भारत के सर्वाधिक वांछित आतंकी दाउद इब्राहिम और पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के बीच के रिश्तों को साबित किया जा सकता है।