चिदंबरम ने लॉकडाउन को बताया 'ऐतिहासिक कदम', बोले- 'कोरोनावायस से जंग में PM सेनापति और जनता पैदल सेना'

Coronavirus Lockdown: पूर्व केंद्रीय मंत्री चिदंबरम ने कहा,  "प्रधानमंत्री के मंगलवार को कोरोनावायरस से लड़ने के लिए देशभर में 21 दिन के लिए लॉकडाउन की घोषणा की है. यह ऐतिहासिक कदम है.

चिदंबरम ने लॉकडाउन को बताया 'ऐतिहासिक कदम', बोले- 'कोरोनावायस से जंग में PM सेनापति और जनता पैदल सेना'

पूर्व वित्त मंत्री चिदंबरम ने किया Lockdown का समर्थन

खास बातें

  • चिदंबरम ने लॉकडाउन का बताया 'ऐतिहासिक कदम'
  • उन्होंने 10 सूत्रीय योजना का सुझाव भी दिया है
  • PM, केंद्र और राज्य सरकारों को समर्थन देना हमारा कर्तव्य : चिदंबरम
नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की ओर से कोरोनावायरस (Coronavirus) को लेकर किए गए लॉकडाउन (Lockdown) को पूर्व वित्त मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने "ऐतिहासिक कदम" करार देते हुए बुधवार को कहा कि कोरोनावायरस से इस लड़ाई में प्रधानमंत्री कमांडर (सेनापति) हैं और जनता उनके "पैदल सैनिक" हैं. लॉकडाउन से निपटने में लोगों की मदद करने के लिए उन्होंने 10 सूत्रीय योजना का सुझाव भी दिया है. चिदंबरम ने गरीबों के बैंक खातों में सीधे पैसे ट्रांसफर करने और सभी जरूरी उत्पादों एवं सेवाओं पर करों में कटौती का सुझाव दिया है. 

पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा,  "प्रधानमंत्री के मंगलवार को कोरोनावायरस से लड़ने के लिए देशभर में 21 दिन के लिए लॉकडाउन की घोषणा की है. यह ऐतिहासिक कदम है. हमें 24 मार्च से पहले की बहस को पीछे छोड़कर देशव्यापी लॉकडाउन को एक नई लड़ाई की शुरुआत के रूप में देखना चाहिए, जिसमें प्रधानमंत्री कमांडर हैं और जनता पैदल सैनिक है." उन्होंने कहा, "प्रधानमंत्री, केंद्र और राज्य सरकारों को समर्थन देना हमारा कर्तव्य है."
 
पीएम मोदी ने मंगलवार को अपने संबोधन में कोरोनावायरस को लेकर पूरे देश में लॉकडाउन  की घोषणा की. उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के दौरान घरों से बाहर निकलने पर पूरी तरह पाबंदी लगी रहेगी. पीएम मोदी ने बताया कि कोरोनावायरस को रोकने के लिए एक ही रास्ता है, वो है सोशल डिस्टेंसिंग यानी अपने घरों में बंद रहना इसके अलावा कोई और रास्ता नहीं है.

चिदंबरम ने पीएम-किसान के तहत किसानों को मिलने वाली राशि को दोगुना करके 12,000 करने का आग्रह किया है. साथ ही मनरेगा के तहत पंजीकृत श्रमिकों के बैंक खातों में 3,000 रुपये ट्रांसफर करने का सुझाव दिया है. 

शहर में रहने वाले गरीबों के लिए, पूर्व वित्त मंत्री ने उनके जनधन खातों में 6000 रुपये ट्रांसफर करने की मांग की है. इसके अलावा 10 किलो चावल या गेहूं बिल्कुल मुफ्त देने की बात भी कही. 

बता दें कि देश भर में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या बढ़कर 606 हो गई. वहीं, 10 लोगों की अब तक इस वायरस के चलते मौत हो गई है. पीएम मोदी ने कोरोनावायरस का मुकाबले करने के लिए बुधवार से पूरे देश में लॉकडाउन कर दिया है ताकि कोरोनावायरस को फैलने से रोका जा सके. 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com